नवादा में नक्सलियों के खिलाफ सबसे बड़ा सर्च ऑपरेशन, सुरक्षाबलों ने की घेराबंदी

सर्च ऑपरेशन का नेतृत्व नवादा एएसपी अभियान कुमार आलोक कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि पहली बार इतना भारी संख्या में सुरक्षा बल के जवानों को रजौली के नक्सल प्रभावित जंगली इलाकों में उतारा गया है.

News18 Bihar
Updated: July 14, 2018, 3:25 PM IST
नवादा में नक्सलियों के खिलाफ सबसे बड़ा सर्च ऑपरेशन, सुरक्षाबलों ने की घेराबंदी
नवादा के जंगलों में सर्च ऑपरेशन चलाते सुरक्षा बल
News18 Bihar
Updated: July 14, 2018, 3:25 PM IST
बिहार के नवादा में सुरक्षाबलों द्वारा नक्सलियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है. शुक्रवार की मध्य रात्रि से नक्सलियों की जमावड़े की सूचना पर नवादा, गया और झारखंड राज्य के कोडरमा के तरफ से भारी संख्या में पुलिस बल के साथ रात 12 बजे से ही सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया गया है.

नवादा जिले के रजौली थाना क्षेत्र के नक्सल प्रभावित भानेखाप, चोरडिहा, बसबंदरी, हीराखाप, आदि कई जंगली इलाकों के गांव में सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपेरशन चलाया है. नवादा का एक हिस्सा गया और झारखंड के कोडरमा सीमा से भी लगता है इस वजह से गया और कोडरमा की तरफ से भी सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है.

ये भी पढ़ें-  राष्ट्रपति ने राकेश सिन्हा, सोनल मानसिंह सहित इन चार को किया राज्यसभा के लिए मनोनीत

सर्च ऑपरेशन का नेतृत्व नवादा एएसपी अभियान कुमार आलोक कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि पहली बार इतना भारी संख्या में सुरक्षा बल के जवानों को रजौली के नक्सल प्रभावित जंगली इलाकों में उतारा गया है. सुरक्षा बल के जवान रात से ही जंगल के चप्पे-चप्पे को खंगालना शुरू कर दिए हैं. एएसपी अभियान ने बताया कि झारखंड की तरफ से एक बड़े नक्सलियों का जत्था इस इलाके में घुसने की सूचना प्राप्त हुई.

ये भी पढ़ें-  बिहार : कैबिनेट मंत्री की स्कॉट गाड़ी ने बाइक सवार को कुचला, सड़क जाम

उसी सूचना के आधार पर नवादा एसटीएफ,एसएसबी, जिला स्वाट, कोडरमा की तरफ से कोबरा एवं जगुआर, गया कि तरफ से कोबरा सीआरपीएफ के कुल 5 पार्टी अलग अलग एंट्री पॉइंट्स से इन इलाकों में खोज अभियान चला रही है.

बताया जाता है कि झारखंड में हो रहे नक्सलियों के साथ ताबड़तोड़ मुठभेड़ से नक्सली बौखलाए हुए हैं और बिहार के नक्सल प्रभावित इलाकों में शरण लेने की फिराक में है. इसी को लेकर सुरक्षाबलों के द्वारा लगातार सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है.

रिपोर्ट- अनिल विशाल
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर