गलत ड्राइविंग का विरोध किया तो पीट-पीटकर मार डाला, छोटे भाई ने भागकर बचाई जान
Nawada News in Hindi

गलत ड्राइविंग का विरोध किया तो पीट-पीटकर मार डाला, छोटे भाई ने भागकर बचाई जान
मृतक की फाइल फोटो

Murder In Nawada: नवादा में हुई हत्या की इस घटना के बाद से मृतक के परिजन सदमे में हैं. मामले की जांच में लगी पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कई इलाकों में छापेमारी कर रही है.

  • Share this:
नवादा. बिहार के नवादा में अपराधी इन दिनों बेलगाम हो गए हैं. ताजा मामला नवादा नगर थाना क्षेत्र से सटे अकबरपुर थाना क्षेत्र के गोसाई बीघा गांव का है जहां एक व्यक्ति की केवल इस बात को लेकर पीट-पीटकर निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई क्योंकि उन्होंने गलत तरीके से ऑटो चलाने का विरोध किया था.  मृतक की पहचान नवादा नगर थाना क्षेत्र के कुर्मा गांव निवासी धर्मेंद्र कुमार सिंह के रूप में हुई है.

गलत तरीके से ऑटो चलाने का किया था विरोध

मृतक के परिजनों ने बताया कि शनिवार की शाम धर्मेंद्र अपने छोटे भाई के साथ सब्जी लाने के लिए गोसाई बीघा गए हुए थे. इसी दौरान विपरीत दिशा से आ रहे एक ऑटो ने उन्हें चकमा दे दिया. चकमा देने के बाद वो बाइक से गिर गए. बाद मं धर्मेंद्र ने केवल इस बात के लिए उसे रोका कि वो सही तरीके से ऑटो चलाये, जब वो ऑटो चालक को समझाने के लिए निकले तो वह उनके जान पहचान का ही ड्राइवर नागा चौधरी निकला. इतने में यह बात उस ऑटो चालक नागा चौधरी को नागवार लगी और उसने अपने एक अन्य सहयोगी सुरेंद्र यादव के साथ उनको मारना पीटना शुरू कर दिया है. यही नहीं आसपास के भी कुछ उसके साथी मौके पर पहुंचे और धारदार हथियार से कई बार वार कर दिया.



छोटे भाई ने छिपकर बचाई अपनी जान
साथ रहे मृतक धर्मेंद्र के छोटे अभिमन्यु कुमार सिंह ने बताया कि जब भैया बाइक से गिर गए तो उन्होंने ऑटो ड्राइवर को समझाया, इतने में ही वह ताबड़तोड़ हमला करने लगा. उनके सिर पर भी लाठी से वार किया गया. घायल अवस्था में उन्होंने छिपकर अपनी जान बचाई. सभी इतने आवेश में थे कि जान लेने पर उतारू हो गए थे.

परिजनों ने अस्पताल में कराया भर्ती, इलाज के दौरान हुई मौत

निरंजन सिंह ने बताया कि घायल अवस्था में उन्हें नवादा सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनकी  स्थिति को चिंताजनक देखते हुए पावापुरी स्थित विम्स रेफर किया गया, मगर इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. धर्मेंद्र कई वर्ष पूर्व एक निजी इलेक्ट्रॉनिक चैनल संस्था से भी जुड़े हुए थे. कई साल तक वो इस कार्य मे सक्रिय भी रहे थे. घटना के बाद उनसे जुड़े सभी लोग मर्माहत हैं. शव को नवादा लाया गया है. इस घटना के बाद सभी अपराधी गांव से फरार बताए जा रहे हैं. फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है वहीं परिजनों के बयान के आधार पर पुलिस ने फर्द बयान दर्ज कर लिया है. फिलहाल पुलिस अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज