लाइव टीवी

बिहार के नेशनल शूटर की दिल्ली में संदेहास्पद मौत, होटल में मिली लाश

News18 Bihar
Updated: October 14, 2019, 4:36 PM IST
बिहार के नेशनल शूटर की दिल्ली में संदेहास्पद मौत, होटल में मिली लाश
दिल्ली के होटल में मृत पाया गया बिहार का युवा निशानेबाज प्रियांशु

मूल रूप से नवादा (Nawada) के रहने वाला इस युवा निशानेबाज (Shooter) ने पिछले साल तिरूवनंतपुरम में परचम लहराया था. प्रियांशु देहरादून के लूसैन्ट में पढ़ाई करता था. वो 14 साल की उम्र में ही कई गोल्ड मेडल जीत चुका था.

  • Share this:
नवादा. बिहार के उभरते हुए निशानेबाज खिलाड़ी प्रियांशु कुमार चौरसिया की दिल्ली स्थित एक होटल में संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई. मौत की ख़बर घरवालों को मिलते ही उसके गृह जिले नवादा स्थित जेल रोड मकान में कोहराम मच गया. प्रियांशु नेशनल टीम में चयन के बाद राष्ट्रीय इवेंट में भाग लेने के लिए अपने कोच के साथ दिल्ली गया हुआ था.

कोच के साथ गया था दिल्ली

बताया जा रहा है कि नेशनल निशानेबाज प्रियांशु कुमार चैरसिया की मौत करंट लगने से हो गई. रविवार की सुबह अपने कोच के साथ वो दिल्ली के होटल कलेक्शन ओयो में ठहरा हुआ था जहां उसकी मौत करंट लगने से हो गई. बाथरूम में लगे गीजर से करंट प्रवाहित होने के कारण इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. मृत निशानेबाज प्रियांशु के चाचा मनोज चौरसिया ने बताया कि उनके पास दिल्ली से काॅल आया कि जिस होटल में प्रियांशु ठहरा हुआ था वहां बाथरूम में नहाने के दौरान गीजर में विद्युत प्रवाह से उसकी मौत हो गई.

अस्पताल में तोड़ा दम

करंट लगने के बाद उसे आनन-फानन में दिल्ली के अपोलो अस्पताल में दखिल कराया गया परंतु वहां के चिकित्सक प्रियांशु को बचा नहीं सके. इस घटना की सूचना मिलने के बाद नवादा में रह रहे परिजनों में कोहराम मच गया. उसके पैतृक गांव पकरीबरावां प्रखंड के छतरवार में भी मातमी सन्नाटा पसर गया है. पूरा परिवार प्रियांशु के पार्थिश शरीर को लाने दिल्ली के लिए रवाना हो चुका है.

shooter
निशानेबाज प्रियांशु की फाइल फोटो


मौत के कारणों पर संशय
Loading...

प्रियांशु की मौत पर संशय बरकरार है. परिवार के सभी सदस्य दिल्ली पहुंच गए हैं. दिल्ली में दिल्ली पुलिस ने शुरुआती दौर में छानबीन के दौरान होटल को सील कर दिया है लेकिन फिलहाल उसके शव का पोस्टमॉर्टेम नही कराया गया है और कई बिंदुओं पर अभी जांच चल रही है.

नेशनल टीम के लिए हुआ था चयन

प्रियांशु कई बार अपने कौशल का परिचय दे चुका है. केरल के तिरूवनंतपुरम में भाग लेने देश भर के 56 सौ प्रतिभागियों में प्रियांशु ने परचम लहराया था जिसके बाद नेशनल टीम के लिए चयन हुआ था. पिछले साल तिरूवनंतपुरम में परचम लहराने वाला निशानेबाज प्रियांशु देहरदून के लूसैन्ट में पढ़ाई करता था। वो 14 साल की उम्र में ही कई गोल्ड मेडल जीत चुका था. पिछले साल 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में शानदार प्रदर्शन करके नवादा ही नहीं उसने अपने परिवार को भी गौरवान्वित किया था.

ओलम्पियाड खेलने का प्रियांशु का सपना रह गया अधूरा

प्रियांशु अपने माता-पिता के सपनों को पूरा करने के लिए ओलम्पियाड खेलने का सपना संजोये था.
सोशल मीडिया पर भी प्रियांशु एक्टिव था. अपनी जीत और नाकामी दोनों को वह अपने पोस्ट के माध्यम से लोगों को जानकारियां देता रहता था. उसके फेसबुक पेज पर राइफल के साथ उसने कई फ़ोटो भी पोस्ट किए थे जो दर्शाता था कि शूटिंग के प्रति उसमें जबर्दस्त जुनून था और उसे हासिल करने के लिए वो कड़ी मेहनत भी कर रहा था.

लोगों ने जताया शोक

प्रियांशु के असामयिक मौत से जिले में खेल के प्रति रुचि रखने वालों ने गहरी संवेदना व्यक्त की है. जिला पुलिस द्वारा संचालित साइबर सेनानी ग्रुप में एडमिन से लेकर खिलाड़ी एवं अन्य लोगों ने प्रियांशु को श्रद्धांजलि अर्पित की है.

रिपोर्ट- अनिल विशाल

ये भी पढ़ें- BPSC की 63वीं परीक्षा का फाइनल रिजल्ट घोषित, श्रेयांश तिवारी बने टॉपर

ये भी पढ़ें- शराब के नशे में हैवान बना चाचा, पांच साल की भतीजी से घर में ही किया रेप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नवादा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 14, 2019, 3:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...