बिहार के इस अस्पताल में मरीजों को मयस्सर नहीं बेड, कुत्ते यूं फरमा रहे आराम

अस्पताल के बेड पर आराम फरमाते कुत्ते

इस पूरे मामले पर प्रभारी सीएस डॉक्टर चंद्रा से पूछा गया, तो उन्होंने बताया कि अगर इस तरह का मामला सदर अस्पताल से आता है, तो यह कहीं से ठीक नहीं है लेकिन फिर भी इस मामले में जवाब मांगा जाएगा.

  • Share this:
    आमतौर पर अस्पतालों के बेड पर आपको मरीज ही दिखाई पड़ते हैं, लेकिन बिहार का एक अस्पताल ऐसा भी है जहां अस्पताल के बेड पर मरीजों की बजाए कुत्तों का कब्जा है. मामला नवादा जिला मुख्यालय स्थित सदर अस्पताल का है. यहां के वार्डों में कुत्ते और मरीज आस-पास लेटे देखे गए हैं.

    लोग बताते हैं कि यह कोई पहली घटना नहीं है, जब नवादा सदर अस्पताल के सर्जिकल व इमरजेंसी वार्ड में इंसानों के बेड पर कुत्ते आराम करते नज़र आ रहे हैं. स्वास्थ्य विभाग के तरफ से मरीजों की बेहतर सुविधाओं के लिए करोड़ों रुपए खर्च किए जाते हैं, वहीं नवादा सदर अस्पताल में यह समस्या लगातार बनी हुई है. तस्वीरों में दिख रहे कुत्तों से जहां मरीज और उनके परिजन दहशत में रहें वहीं किसी ने उनको बेड से नीचे उतारने की जहमत नहीं उठाई.

    ये भी पढ़ें- बिहार में फिर से गरजा एके-47, गोलियां बरसा कर नक्सलियों ने निहत्थों की कर दी हत्या

    एक तरफ अस्पताल आए मरीजों को बेड नहीं मिल पाता है, तो दूसरी तरफ इन कुत्तों को आराम करने के लिए साफ-सुथरा बेड मिल जाता है. मरीज अक्सर इस तरह की शिकायत अस्पताल प्रबंधन से करते हैं, मगर आज तक इस पर कोई संज्ञान नहीं लिया गया.

    इस पूरे मामले पर प्रभारी सीएस डॉक्टर चंद्रा से पूछा गया, तो उन्होंने बताया कि अगर इस तरह का मामला सदर अस्पताल से आता है, तो यह कहीं से ठीक नहीं है. लेकिन फिर भी इस मामले में जवाब मांगा जाएगा कि कुत्ते वहां तक कैसे पहुंचते हैं. साथ ही साथ अस्पताल के गार्ड से भी यह स्पष्टीकरण लिया जाएगा कि उनकी मौजूदगी में कुत्ते बेड पर कैसे आते हैं?

    रिपोर्ट- अनिल विशाल