Home /News /bihar /

बच्चों की छुट्टी में स्कूल को बना दिया मयखाना, जाम छलकाते गिरफ्तार हुए हेडमास्टर और टीचर

बच्चों की छुट्टी में स्कूल को बना दिया मयखाना, जाम छलकाते गिरफ्तार हुए हेडमास्टर और टीचर

बिहार के नवादा में शराब पार्टी करते हेडमास्टर और टीचर गिरफ्तार हुए हैं

बिहार के नवादा में शराब पार्टी करते हेडमास्टर और टीचर गिरफ्तार हुए हैं

Nawada School Liquor Party : कोरोना के बढ़ते केस को लेकर इन दिनों बिहार के स्कूलों में बच्चों की छुट्टी है जबकि शिक्षकों की उपस्थिति को भी पचास फीसदी कर दिया गया है. स्कूल में छुट्टी का फायदा उठाकर ही इस शराब पार्टी का आयोजन किया गया था. गांव के मध्य विद्यालय में हेडमास्टर अपने सहयोगियों के साथ शराब पी रहे थे. इसकी जानकारी स्थानीय पुलिस को भी मिली. पकरीबरावां एसडीपीओ मुकेश कुमार साहा ने गुप्त सूचना के आधार पर यह कार्रवाई की.

अधिक पढ़ें ...

नवादा. बिहार में नीतीश सरकार की शराबंदी (Bihar Liquor Ban) को उनके सराकारी मुलाजिम ही पलीता लगा रहे हैं. ताजा मामला एक सरकारी स्कूल से जुड़ा है जिसे स्कूल के ही हेडमास्टर ने अपने सहयोगियों की मदद से मयखाना बना दिया और जाम छलकाने लगे. स्कूल में शराब पीने (Liquor Party In School) के मामले में तीन शिक्षकों को गिरफ्तार किया गया है, जिसमें स्कूल के प्रधानाध्यापक भी शामिल हैं. मामला नवादा जिले के वारिसलीगंज थाना क्षेत्र के साम्बे गांव का है.

गांव के मध्य विद्यालय में हेडमास्टर अपने सहयोगियों के साथ शराब पी रहे थे. इसकी जानकारी स्थानीय पुलिस को भी मिली. पकरीबरावां एसडीपीओ मुकेश कुमार साहा ने गुप्त सूचना के आधार पर यह कार्रवाई की. एसडीपीओ ने बताया कि उन्हें गुप्त सूचना प्राप्त हुई थी कि स्कूल में शराब पार्टी आयोजित की जा रही है, जिसमें स्कूल के शिक्षक भी शामिल हैं. इसके बाद उनके निर्देश में एक टीम का गठन किया गया जिसमें वारिसलीगंज थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर पवन की देखरेख में छपेमारी की गयी. छपेमारी के दौरान तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया.

पुलिस अभिरक्षा में तीनों को वारिसलीगंज पीएचसी जांच के लिए ले जाया गया, जहां जांच उपकरण खराब रहने के कारण जांच के लिए पकरीबरावां लाया गया. पकरीबरावां में जांच के दौरान प्रधानाध्यापक सुनील कुमार सिंह एवं प्रमोद कुमार सिंह के शराब पीने की पुष्टि होने पर वारिसलीगंज पुलिस को सुपुर्द कर दिया गया जबकि एक अन्य शिक्षक रजनीश कुमार के शराब पीने की पुष्टि नहीं हुई जिसके बाद उन्हें मुक्त करने का निर्देश एसडीपीओ ने दिया.

इधर मामले में एसडीपीओ मुकेश कुमार साहा ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्तों पर बिहार मद्य निषेध उत्पाद अधिनियम-2016 के तहत प्राथमिकी दर्ज करने के बाद न्यायिक हिरासत में जेल भेजा जा रहा है. दूसरी ओर अचानक ही स्कूल के दो शिक्षकों के गिरफ्तार होने से गांव के लोगों में भी हड़कंप मच गया है.

Tags: Bihar News, Liquor Ban

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर