6 लीटर शराब रखने वाले को कोर्ट ने दी 10 साल की सजा, एक लाख का अर्थदंड भी

अपर लोक अभियोजक त्रिवेणी प्रसाद सिन्हा ने बताया कि बिहार में शराबबंदी कानून लागू होने के बाद नवादा में अदालत के द्वारा यह तीसरा फैसला सुनाया गया है, जिसमें अभियुक्त को 10 साल की सजा सुनाई गई है.

Anil Vishal | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 15, 2018, 5:47 PM IST
6 लीटर शराब रखने वाले को कोर्ट ने दी 10 साल की सजा, एक लाख का अर्थदंड भी
सजा पाने वाला शख्स
Anil Vishal | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 15, 2018, 5:47 PM IST
बिहार में शराबबंदी कानून लागू होने के बाद नवादा व्यवहार न्ययालय में एक ऐतेहासिक फैसला सुनाया गया. कोर्ट ने 6 लीटर शराब रखने के दोष में एक शख्स को एक लाख का अर्थदंड और 10 साल की सजा सुनाई.

नवादा के रजौली थाना में दर्ज कांड संख्या 76/16 के तहत इस केस का अभियुक्त नंदकिशोर चौधरी था जो कि रजौली का रहने वाला है. उसके पास से पुलिस ने 6 लीटर अवैध शराब बरामद किया था जिसके बाद उसके ऊपर शराब निर्माण के साथ-साथ बेचने का भी आरोप लगा.

इसके तहत अदालत ने आज उसके खिलाफ फैसला सुनाया. एडीजे 2 कौशलेश कुमार की अदालत ने आरोपी गणेश साव को उत्पाद अधिनियम 471 A के तहत 10 साल का जेल और एक लाख का आर्थिक दंड सुनाया.

अपर लोक अभियोजक त्रिवेणी प्रसाद सिन्हा ने बताया कि बिहार में शराबबंदी कानून लागू होने के बाद नवादा में अदालत के द्वारा यह तीसरा फैसला सुनाया गया है, जिसमें अभियुक्त को 10 साल की सजा सुनाई गई है.

दोषी की दोनों सजाएं साथ-साथ चलेंगी. उन्होंने बताया कि इस ऐतिहासिक फैसले के बाद राज्य के साथ-साथ जिले में एक मजबूत संदेश जाएगा कि शराबबंदी कानून को शत-प्रतिशत लागू कराने के लिए राज्य सरकार और जिला प्रशासन अग्रसर कार्रवाई कर रही है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर