बिहार में कोरोना का कहर: ककोलत वाटरफॉल पर्यटकों के लिए लगातार दूसरे साल बंद

अगले आदेश तक बंद हुआ नवादा का ककोलत स्थित जलप्रपात (फाइल फोटो)

अगले आदेश तक बंद हुआ नवादा का ककोलत स्थित जलप्रपात (फाइल फोटो)

बिहार में 24 घंटे में फिर से 2999 नए लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है. इस दौरान कोरोना से 8 लोगों की मौत भी हो गई. सबसे बुरी हालत पटना की है, जहां 1197 संक्रमित पाए गए हैं.

  • Share this:
बिहार. बिहार में कोरोना के साइड इफेक्ट्स फिर से दिखने लगे हैं. बिहार का कश्मीर कहा जाने वाला एकमात्र जलप्रपात ककोलत (Kakolat Water Fall) फिर से पर्यटकों के लिए बंद कर दिया गया है. नवादा के ऐतिहासिक शीतल जल प्रपात ककोलत में सैलानियों के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी गई है. कोरोना संक्रमण (Bihar Corona Cases) के बढ़ते मामलों को देखते हुए ऐसा आदेश जारी किया गया है. इससे पहले 2020 में भी यही स्थिति रही थी.

रजौली के अनुमंडल पदाधिकारी चंद्रशेखर आजाद ने सैलानियों के प्रवेश पर रोक का आदेश जारी किया है. नवादा के जिला जनसंपर्क पदाधिकारी गुप्तेश्वर कुमार ने बताया कि 13 अप्रैल से अगले आदेश तक के लिए जलप्रपात तक जाने पर रोक लगाई गई है. गोविंदपुर के प्रखंड विकास पदाधिकारी और थानाध्यक्ष की सिफारिश पर ऐसा निर्णय लिया गया है. गौरतलब है कि जिले में पिछले साल के मुकाबले इस समय कोरोना ज्यादा तेज़ी से फ़ैल रहा है.

नवादा जिले में कोरोना के 194 एक्टिव केस हो गए हैं, ऐसे में ककोलत जाने पर रोक लगाई गई है, ताकि संक्रमण का फैलाव न हो सके. प्रशासन ने लोगों से कोरोना को देखते हुए ककोलत नहीं आने की अपील की है. गर्मी के दिनों में ककोलत सैलानियों को काफी भाता है. यहां भारी भीड़ जुटती है. विदेशी पर्यटक भी जलप्रपात तक पहुंचते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज