घर में घुसे डकैतों ने लूट के दौरान काट डाला बेटे का गला, कारोबारी ने सांस रोककर बचाई जान
Nawada News in Hindi

घर में घुसे डकैतों ने लूट के दौरान काट डाला बेटे का गला, कारोबारी ने सांस रोककर बचाई जान
बिहार के नवादा में हुई डकैती और हत्या की घटना के बाद मामले की जांच को पहुंची पुलिस

बिहार के नवादा (Nawada) में हुई इस घटना के बाद पुलिस ने मौके से एक फरसा भी बरामद किया है. घटना की सघन जांच के लिए डॉग स्क्वायड एवं फॉरेंसिक की टीम को बुलाया जा रहा है.

  • Share this:
नवादा. बिहार के नवादा (Nawada) में अपराधियों ने लूट और डकैती (Murder and Loot) की बड़ी वारदात को अंजाम दिया है. अपराधियों ने एक घर में भीषण डकैती के दौरान व्यवसायी के पुत्र की गला काटकर निर्मम हत्या कर दी. डकैती एवं हत्या की यह घटना सोमवार की देर रात बुंदेलखंड थाना क्षेत्र के डोभरा पर मोहल्ले की है जहां अपराधी  जेवर, नकद, मोबाइल, लैपटॉप अपने साथ लेकर चले गए.

खिड़की तोड़कर घर में घुसे अपराधी

थोक किराना व्यवसायी सत्यानंद प्रसाद के घर में बीती रात अपराधियों ने खिड़की को तोड़कर दूसरे तल्ले में प्रवेश किया. अपराधियों ने सबसे पहले उनके एकमात्र बेटे के कमरे में घुसकर पहले उसकी गला काट कर निर्मम हत्या कर दी. जिस वक़्त अपराधी घर में घुसे वो जागा हुआ था और मोबाइल चला रहा था. इसके बाद अपराधी घर में रखा लैपटॉप, कंप्यूटर, मृतक रौशन का मोबाइल फोन, नगद एवं जेवरात अपने कब्जे में ले लिए.



कारोबारी ने मरने का नाटक कर बचाई अपनी जान
घर के मालिक और किराना ब्यवसायी सत्यानंद प्रसाद ने बताया कि दो अपराधी उनके कमरे में अचानक घुसे और उनके सर पर लगातार वार करने लगे. हाथ-पैर को अपराधियों ने बांध दिया. इस दौरान गृह मालिक खुद को मरने का नाटक कर अपनी जान बचाई, उसके बाद अपराधी उन्हें मरा हुआ छोड़कर समझ कर वहां से सभी सामान लेकर भाग निकले. जैसे ही उन्हें होश आया तो घर के दूसरे कमरे में गए जहां उन्हीने देखा कि उनके इकलौते बेटे की लाश कमरे में पड़ी हुई है.

मामले की जांच को पहुंची पुलिस

घटना के बाद गृह मालिक ने घरवालों को इस घटना की जानकारी दी. अपने आस-पड़ोस एवं संबंधियों को जानकारी देने के बाद पुलिस को घटना की जानकारी दी गई जहां पुलिस देर रात पहुंची और घटनास्थल का मुआयना किया एवं शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया. पुलिस ने मौके से एक फरसा भी बरामद किया है. घटना की सघन जांच के लिए डॉग दस्ता एवं फॉरेंसिक की टीम को बुलाया जा रहा है.

अपराधी के पहचान होने पर ही हत्या की जतायी आशंका

मृतका की बहन रागिनी कुमारी गृहस्वामी सत्यानंद प्रसाद एवं अन्य लोग ऐसी आशंका जता रहे हैं कि उनके बेटे ने अपराधियों को पहचान लिया होगा इसलिए उसका भेद न खुल पाए इसी कारणवश रौशन की हत्या कर दी गयी. परिवार के सदस्यों ने यह भी आशंका जताई है कि कोई पहचान का ही व्यक्ति उनके घर में घुसा है और घर में रखे सभी सामान जेवर एवं नगद लेकर भागा है, क्योंकि अपराधी वैसी जगह से नकद, जेवर लेकर भागे हैं जो केवल घर के सदस्य ही जानते थे. रोशन राजगीर के सरस्वती विद्या मंदिर का छात्र था और लॉकडाउन के बाद से घर में ही रह रहा था. गृह मालिक सत्यानंद प्रसाद ने बताया है कि वो एक अपराधी को पहचानते हैं और पुलिस को भी इसकी सूचना दी है.

जल्द खुल सकता है घटना का राज

पुलिस को इस मामले में बहुत जल्द सफलता मिल सकती है क्योंकि घर में लगे सीसीटीवी में संभवतः अपराधियों की तस्वीर कैद हो गई होगी. घर के हॉल समेत अन्य जगहों पर सीसीटीवी लगे हुए हैं. अपराधी हड़बड़ी में सीसीटीवी का डीवीआर को इधर-उधर करके वहां से भाग निकले हैं. बुंदेलखंड थानाध्यक्ष ने बताया कि मामले के अनुसंधान के लिए स्वान दस्ता व फॉरेंसिक की टीम को बुलाया जा रहा है. फिलहाल जिस कमरे में हत्या हुई है उस कमरे को लॉक कर दिया गया है ताकि कुछ महत्वपूर्ण सुराग वहां मिल सकते है. घायल व्यवसायी सत्यानंद प्रसाद को डॉक्टरों ने स्थिति गंभीर देखते हुए पटना रेफर कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज