नवादा में हुई 15 मौत का जिम्मेवार बना 'चौकीदार', सस्पेंड करने के बाद अधिकारियों ने बताई वजह

बिहार के नवादा में जांच के लिए पहुंची टीम

बिहार के नवादा में जांच के लिए पहुंची टीम

Nawada Liquor Scandal: बिहार के नवादा में लगातार हो रही मौत के बाद विपक्ष ने भी सरकार को निशाने पर लिया है, साथ ही कार्रवाई की मांग की है. विपक्ष का आरोप है कि सरकार माफियाओं को बचा रही है.

  • Share this:
नवादा. बिहार के नवादा में होली के बाद से लगातार हो रही मौतों की गाज इलाके के चौकीदार पर गिरी है. उसे प्रशासन द्वारा निलंबित कर दिया गया है तो वहीं जांच के दौरान मौत के कारण के रूप में जहरीली शराब होने की आशंका जताई गई है. नवादा में हुई मौतों के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा एक उच्च स्तरीय जांच टीम को भेजा गया था, जहां जांच टीम ने नवादा पहुंचकर नवादा के अधिकारियों से एवं प्रभावित इलाकों में जाकर जरूरी जानकारी इकट्ठा की. जांच टीम ने पहली बार माना कि प्रभवित इलाकों में लोगों की मौत नकली शराब से हुई होगी.

क्या कहा उत्पाद आयुक्त ने

नवादा पहुंचने पर जांच टीम के अधिकारियों ने उत्पाद आयुक्त को रिपोर्ट सौंपी जहां जानकारियां इकट्ठा होने के बाद उत्पाद आयुक्त बी कार्तिकेय धन जी ने आज पटना जाने से पहले मीडिया को संबोधित किया. उन्होंने मीडिया को यह बात बताई कि मौत के पीछे नकली शराब का कारण रहा होगा किंतु पूरे तरीके से यह नहीं कहा जा सकता है कि शराब से ही लोगों की मौत हुई है. उन्होंने कहा कि विसरा और केमिस्ट की रिपोर्ट आने के बाद यह यह स्पष्ट हो पाएगा कि लोगों की मौत कैसे हुई है. उन्होंने बताया कि एक जांच कमेटी का भी गठन कर दिया गया ह  जिसमें नवादा पुलिस प्रशासन के अधिकारी एवं उत्पाद विभाग के अधिकारी संयुक्त रूप से इस पूरे मामले की जांच करेंगे. हालांकि इंटेलिजेंस रिपोर्ट और समीक्षा के आधार पर इस पूरे मामले की जांच शुरू कर दी गई है.

डीएम-एसपी ने की ज्वाइंट ब्रीफिंग
पटना की टीम लौटने के बाद नवादा एसपी डीएस सांवलाराम एवं डीएम यशपाल मीना ने एक संयुक्त प्रेस वार्ता की जिसमें डीएम ने बताया कि 15 लोगों की अब तक मौत की पुष्टि हो चुकी है जिसमें जिला प्रशासन भी यह मान रहा है कि प्रथम दृष्टया नकली शराब से लोगों की मौत हुई होगी. एसपी ने बताया कि इस मामले में बुधौल के चौकीदार विकास मिश्रा को निलंबित कर दिया गया है. एसपी ने बताया कि इस मामले में सात अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की गई है और पूरे मामले के बाद लगातार छापेमारी भी की जा रही है जिसमें 7 लोगों को गिरफ्तार भी किया जा चुका है.

एसपी बोले

सैकड़ों लीटर शराब को भी जब्त किया गया है. शराब बांटे जाने के मामले पर एसपी ने बताया कि उन्हें इस मामले में महत्वपूर्ण लीड मिल चुके हैं और इसकी पड़ताल की जा रही है कि कौन लोगों ने इलाके में शराब बांटी थी. एसपी ने यह भी बताया कि जिनका पोस्टमॉर्टम हुआ था अस्पताल के डॉक्टरों ने उनकी रिपोर्ट दे दी है. रिपोर्ट में मौत के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है, लिहाजा वेसर रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट हो पायेगा. उन्होंने मीडिया के एक सवाल पर यह भी बताया कि शराब नकली थी या बाहर से मंगाई गई थी या नवादा में ही बनी थी इसके ऊपर भी जांच चल रही है. कुल मिलाकर नवादा पुलिस ने भी अंत में यह माना है कि मौत के मामले में शराब की बात आ रही है मगर शुरुआती दौर में उनके मौत का कारण शराब नहीं बताया जा रहा था. अब जांच रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा कि लोगों की मौत की वजह क्या है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज