4 साल से फरार चल रहे हार्डकोर नक्सली को एसएसबी ने घर से दबोचा

गिरफ्तार नक्सली सोनू भुइयां पर  दो थानों में केस दर्ज हैं.
गिरफ्तार नक्सली सोनू भुइयां पर दो थानों में केस दर्ज हैं.

एसएसबी कमांडेंट को गुप्त सूचना मिली थी कि 4 साल से फरार चल रहे कुख्यात नक्सली सोनू भुइयां गांव आया हुआ है. इसी सूचना पर छापेमारी कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 22, 2020, 4:54 PM IST
  • Share this:
नवादा. बिहार के नवादा जिले के रजौली में चार साल से फरार चल रहे कुख्यात नक्सली सोनू भुइयां को सोमवार देर रात एसएसबी (SSB) ने गिरफ्तार कर लिया. रजौली पुलिस एवं एसएसबी की संयुक्त कार्रवाई में ये सफलता मिली. कुख्यात नक्सली (Naxalite) सोनू भुइंया रजौली थाने के भानेखाप का रहने वाला है.

दरअसल एसएसबी के कार्यवाहक कमांडेंट रामकुमार को सूचना मिली थी कि 4 वर्षो से फरार चल रहे नक्सली सोनू गांव आया हुआ है. इसी सूचना के आलोक में एसएसबी के इंस्पेक्टर संतोष कुमार और एसडीपीओ संजय कुमार पांडेय के नेतृत्व में टीम का गठन कर छापेमारी की गई. गांव की घेराबंदी कर सर्च अभियान चलाने पर सोनू को एक घर से गिरफ्तार किया गया.

एसडीपीओ संजय कुमार पांडेय ने बताया कि 4 वर्षों से फरार कुख्यात नक्सली सोनू भुइयां के घर आने की सूचना मिली थी. जिसके बाद एसएसबी जवानों के सहयोग से हरदिया के कुंभियातरी जंगल स्थित उसके घर से उसे गिरफ्तार कर लिया गया.



लेवी-मुठभेड़ को लेकर दर्ज हैं केस 
एसडीपीओ ने बताया कि गिरफ्तार नक्सली वर्ष 2016 में सिरदला थाना इलाके के खरौन्ध में रेलवे ठेकेदार के द्वारा लेवी नहीं देने पर उसके कर्मियों के साथ मारपीट और वाहनों को जलाने की घटना में शामिल था. इस सिलसिले में उसपर सिरदला थाने में कांड संख्या-264/16 के तहत प्राथमिकी दर्ज है. इसके अलावा रजौली थाना इलाके के भानेखाप में पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में भी वह शामिल था. इस मामले में रजौली थाने में 21 जुलाई 2017 को कांड संख्या-197/2017 में धारा 147, 148, 149, 353, 307 तथा शस्त्र अधिनियम 27 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी.

गिरफ्तार नक्सली सोनू भुइयां को रजौली थाने में कड़ी पूछताछ के बाद मंगलवार को जेल भेज दिया गया. मौके पर थानाध्यक्ष दरबारी चौधरी और एसएसबी के दर्जनों जवान उपस्थित रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज