लाइव टीवी
Elec-widget

इंदिरा आवास के लिए कमीशन लेता था कर्मचारी, DM ने पकड़ा तो भेजा जेल

Anil Vishal | News18 Bihar
Updated: November 24, 2019, 10:49 AM IST
इंदिरा आवास के लिए कमीशन लेता था कर्मचारी, DM ने पकड़ा तो भेजा जेल
मामले की जांच के लिए पहुंचे डीएम

पंचायत के गांव में आवास सहायक ने करीब डेढ़ दर्जन लोगों से अवैध राशि वसूल रखा था. नवादा के जिलाधिकारी ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि जहां भी इस प्रकार का नाजायज कार्य चल रहा है लोग सीधे उनसे शिकायत करने आएं.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 24, 2019, 10:49 AM IST
  • Share this:
नवादा. बिहार के नवादा (Nawada) में एक बार फिर से एक सरकारी सेवक को नाजायज वसूली के आरोप में जेल भेजा गया है. मामला वारसलीगंज से जुड़ा है जहां के दोसुत पंचायत के इंदिरा आवास (Indira Awash) सहायक को नाजायज तरीके से राशि वसूली के आरोप में जिलाधिकारी कौशल कुमार ने बड़ी कार्रवाई की. औंचक निरीक्षण में जिलाधिकारी कौशल कुमार ने वारसलीगंज के दोसुत पंचायत के बेगराजपुर गांव जाकर मामले की जांच की तो यह बात सत्य निकली कि आवास सहायक सभी लाभुकों से 10 से 20 हज़ार की नाजायज वसूली कर रखी थी.

डीएम के सामने आते ही आरोपी की हुई पहचान

मौके पर जब आवास सहायक प्रफुल कुमार को ग्रामीणों के सामने प्रस्तुत किया गया तो ग्रामीणों ने उसे पहचाना और उसके द्वारा मांगे गए अवैध वसूली की जानकारी जिलाधिकारी को दी. ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को बताया कि आवास सहायक उनसे हमेशा कड़ी आवाज में बात करते थे और धमकी के साथ सभी लोगों को दबंगता पूर्वक कहते थे कि अगर पैसा नही दोगे तो आगे सभी प्रकार की प्रक्रिया को रोक देंगे और निर्माणधीन आवास का फोटो भी नहीं लेंगे.

धमकी के साथ लेता था पैसा

उसने कई लोगों को धमकी के साथ कहा कि पैसा नहीं दिया तो दूसरा एवं तीसरा क़िश्त का अग्रिम राशि रोक देंगे. आवास सहायक की दबंगई से डरकर कई लोगों ने उसे राशि उपलब्ध कराई औऱ फिर उनके खाते में आवास बनाने के पैसे आये. ग्रामीणों को आवास सहायक ने इतना डराकर रखा हुआ था कि किसी ने इसकी शिकायत किसी अधिकारी ने नहीं की थी.

स्पीड पोस्ट से जिलाधिकारी को भेजी शिकायत

आवास सहायक के वसूली एवं धमकी से तंग आकर एक लाभुक ने जिलाधिकारी को स्पीड पोस्ट भेजकर मामले को संज्ञान में लाया. पंचायत के गांव में आवास सहायक ने करीब डेढ़ दर्जन लोगों से अवैध राशि वसूल रखा था. जियापुर एवं बेगराजपुर गांव के सुदमियाँ देवी, सोमरी देवी, रेखा देवी, सुकर चौहान, तेजो देवी, मीणा देवी, सुनैना देवी, चम्पा देवी, बुन्देल चौहान समेत अन्य लोगों से राशि वसूल चुका था. शिकायत मिलने के बाद जिलाधिकारी ने पंचायत जाकर मामले की जांच की औऱ अवैध वसूली के आरोप में उसे जेल भिजवाया.
Loading...

बीडीओ ने कराया एफआईआर, भेजा गया जेल

जिलाधिकारी कौशल कुमार ने बताया कि वारसलीगंज बीडीओ द्वारा एफआईआर करा दी गई है और दोषी को जेल भिजवा दिया गया है. साथ ही साथ बीडीओ से इस मामसे में स्पष्टीकरण का रिपोर्ट सौंपने के साथ ही दोषी को बर्खास्त करने को कहा गया है.

जिलाधिकारी ने लोगों से की अपील

जिलाधिकारी ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि जहां भी इस प्रकार का नाजायज कार्य चल रहा है लोग सीधे उनसे शिकायत करने आये और इस प्रकार के कार्य करने वालो को सबक सिखाये. उन्होंने कहा कि जो उनसे मिल नहीं सकते हैं तो डाक के माध्यम से शिकायत भेज सकते हैं. इससे पहले प्रशिक्षु आईएएस सह सहायक समाहर्ता साहिला ने सिरदला के राजन पंचायत का औचक निरीक्षण किया था जिसमें आवास सहायक अविनाश कुमार के खिलाफ वसूली का आरोप लगा था और मामले में सत्यता पाई गई थी. जल्द ही इस मामले में भी आवास सहायक अविनाश कुमार पर गाज गिर सकती है.

ये भी पढ़ें- सीतामढ़ी में बरपा अपराधियों का कहर, कारोबारी समेत दो को सरेआम मारी गोली

ये भी पढ़ें- फिर खराब हुई पटना की हवा, दिल्ली का रिकॉर्ड टूटा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नवादा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 24, 2019, 10:45 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...