लाइव टीवी

मिसाल! Coronavirus के संक्रमण से बचने को पूरा मोहल्ला ही हो गया आइसोलेट, लोगों ने बताई वजह
Nawada News in Hindi

News18 Bihar
Updated: March 24, 2020, 8:42 AM IST
मिसाल! Coronavirus के संक्रमण से बचने को पूरा मोहल्ला ही हो गया आइसोलेट, लोगों ने बताई वजह
बिहार के नवादा स्थित बुंदेलखंड के लोगों ने पूरे मोहल्ले को आइसोलेट कर लिया है.

नवादा स्थित बुंदेलखंड मोहल्ले (Bundelkhand locality in Nawada) के लोगों ने स्वत: ही मोहल्ले को लॉक डाउन कर दिया और उसके प्रवेश और निकास द्वार को पूरी तरह से बैरीकेट कर लॉक कर दिया. मोहल्ले में बाहरी किसी भी व्यक्ति की एंट्री की इजाजत नहीं है.

  • Share this:
नवादा. कोरोना वायरस संक्रमण (Corona virus infection) से बिहार में दो मरीजों की मौत के बाद से बिहार सरकार एहतियात के कई कदम उठा रही है. लोगों से सेल्फ आइसोलेशन में भी रहने की अपील की जा रही है और राज्य सरकार ने  संपूर्ण बिहार में लॉक डाउन (Lock down in Bihar) घोषित कर दिया है. हालांकि इसके बाद भी कई जगहों पर लोग अभी भी इस वायरस की गंभीरता को हल्के में ले रहे हैं और खुलेआम लॉक डाउन का उल्लंघन कर रहे हैं. हालांकि कई ऐसे भी हैं जिन्होंने इस वायरस के संक्रमण के खतरे को समझा है सतर्कता बरत रहे हैं. बिहार के नवादा में बुंदेलखंड मोहल्ले के निवासियों ने ऐसी मिसाल पेश की है कि आज यहां की चर्चा हो रही है.

मोहल्लेवासियों की रजामंदी से किया लॉक
नवादा स्थित बुंदेलखंड मोहल्ले के लोगों ने स्वत: ही मोहल्ले को लॉक डाउन कर दिया और उसके प्रवेश और निकास द्वार को पूरी तरह से बैरीकेट कर लॉक कर दिया. मोहल्ले में बाहरी किसी भी व्यक्ति की एंट्री की इजाजत नहीं है. लोगों का कहना है कि अब  यह लॉक डाउन प्रसाशन के आदेश के बाद ही हटेगा.

लॉक डाउन से पहले मोहल्ले को किया सैनिटाइज



इस मोहल्ले में लगभग 50 से ज्यादा घर हैं और लगभग 250 लोग यहां नियमित तौर पर रहते हैं. सभी लोगों ने मोहल्ले को लॉक डाउन करने से पहले सोसाइटी  को सेनिटाइज किया. बता दें कि बुंदेलखंड थाना के बगल में यह मोहल्ला है.

सूनी पड़ी बुंदेलखंड मोहल्ले की गलियां.


बुंदेलखंडवासियों ने दिया संदेश
यहां के निवासी विजयभान सिंह ने बताया कि बाहरी लोग हमारे मोहल्ले में न आयें और हमलोग भी दूसरे जगह नहीं जाएं, इसके लिए ही ये कदम उठाए गए हैं. दरअसल आम रास्ता का सभी लोग इस्तेमाल कर दूसरे मोहल्ले में जाते थे इसलिए ऐसा करना पड़ा.

बूुंदेलखंडवासियों ने ठाना है कि कोरोना को हराना है.


वहीं, प्रतीकभान सिंह का कहना है कि सभी प्रकार की सतर्कता बरती जा रही है इसलिए प्रवेश और निकास को बंद कर दिया है. वहीं बुजुर्ग निवासी परमानंद सिंह ने नवादा वासियों से अपील कि अन्य लोग भी कुछ ऐसा कर अपने आप और दूसरे को सुरक्षित रखें.

ये भी पढ़ें
COVID-19: मुख्यमंत्री राहत कोष में एक दिन में ही आए 40 करोड़, सामाजिक संगठन भी मदद के लिए आ रहे आगे

COVID-19: बिहार सरकार की बड़ी घोषणा, एक महीने का राशन, साथ ही इन लोगों को मिलेंगी ये सौगात

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नवादा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 8:38 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर