नवोदय विद्यालय के छात्रों ने DM ऑफिस में क्यों जमाया डेरा? जानें वजह..

बच्चे घर न जाकर सोमवार की रात कलेक्टेरिएट पहुंचकर जिलाधिकारी से इस मामले में हस्तक्षेप करने के लिए गुहार लगाई. मगर जिलाधिकारी वहां नहीं मिले. फिर भी छात्र समाहरणालय परिसर में डेरा जमाए बैठे रहे.

News18 Bihar
Updated: July 23, 2019, 12:01 PM IST
नवोदय विद्यालय के छात्रों ने DM ऑफिस में क्यों जमाया डेरा? जानें वजह..
नवादा जिले के नवोदय विद्यालय के छात्रों ने डीएम कार्यालय में जमाया डेरा
News18 Bihar
Updated: July 23, 2019, 12:01 PM IST
नवादा जिले के रेवार स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय मामले में रैगिंग के मामले ने तब तूल पकड़ लिया जब 10वीं कक्षा के छात्र सोमवार को जिलाधिकारी कार्यालय पहुंच गए और समाहरणायल परिसर में ही डेरा जमा लिया. हालांकि बाद में बच्चों को समझा-बुझाकर वापस स्कूल तो भेज दिया गया है, लेकिन इस मामले की जांच अभी जारी है. बता दें कि रविवार को जूनियर और सीनियर बच्चों के बीच मारपीट हुई थी जिस वजह से कुछ सीनियर छात्रों को प्राचार्य ने घर भेज दिया गया था.

सीनियर छात्रों पर लगे रैगिंग के आरोप
घटना के बारे में बताया जा रहा है कि पकरीबरावां प्रखंड के इस विद्यालय में बीते 21 जुलाई को 10वीं के छात्रों के ने वर्ग 6, 7 और 8 के बच्चों की रैगिंग ली.  जिसके कारण सभी जूनियर एवं सीनियर छात्रों के बीच मारपीट हुई. इसमें जूनियर क्लास के लगभग 15 बच्चे चोटिल हो गए थे. इसी को लेकर स्कूल प्रबंधन ने कार्रवाई करते हुए 10वीं के छात्रों को सोमवार को स्कूल से सो कॉज दिया गया और उन्हें स्कूल से निकाल घर भेज दिया गया.

छात्रों ने समाहरणालय में जमाया डेरा

इसके बाद बच्चे घर न जाकर सोमवार की रात कलेक्टेरिएट पहुंचकर जिलाधिकारी से इस मामले में हस्तक्षेप करने के लिए गुहार लगाई. मगर जिलाधिकारी वहां नहीं मिले. फिर भी छात्र समाहरणालय परिसर में डेरा जमाए बैठे रहे. मामला जब सदर एसडीएम अनु कुमार के संज्ञान में आया तो उन्होंने स्कूल प्रबंधन से बातकर तत्काल रात में सभी बच्चों को स्कूल में रखने का आदेश दिया.

सीनियर छात्रों पर जूनियर छात्रों ने रैगिंग करने का आरोप लगाया. इसके बाद स्कूल प्रशासन ने 10वीं के छात्रों को घर जाने का आदेश दे दिया.


एसडीएम ने छात्रों को वापस स्कूल भेजा
Loading...

एसडीएम ने यह भी कहा कि सुबह होने पर उनके परिजन को बुलाकर स्कूल प्रसाशन के नियम के अनुसार कार्रवाई करे. एसडीएम ने सभी बच्चों को वापस स्कूल भेज दिया. दरअसल जूनियर छात्रों ने सीनियर छात्रों पर आरोप लगाया कि सीनियर छात्र उनका रैगिंग लेते हैं.

सीनियर-जूनियर छात्रों के बीच मारपीट की बात
जबकि सीनियर का कहना है कि किसी बात को लेकर जूनियर से कहा सुनी हुई थी, जिसके कारण कुछ जूनियर छात्रों को चोटें आई थीं। मगर किसी के साथ रैगिंग नही ली गयी थी. वही स्कूल के प्रिंसिपल का कहना है कि मारपीट के कारण सीनियर बच्चों के ऊपर सो कॉज किया गया और उन्हें घर वापस भेजा जा रहा है.

जांच के बाद उचित कार्रवाई का आश्वासन
प्रिंसिपल ने कहा कि  स्कूल प्रशासन की जांच में जो भी निकल कर सामने आएगा उसी अनुसार बच्चों पर कार्रवाई की जाएगी. फिलहाल इसकी सूचना पकरीबरावां सीओ, थाना एवं नवोदय प्रसाशन को दे दी गयी है. इस घटना से नाराज परिजनों का कहना है कि एक कि गलती के लिए सभी को सजा देना उचित नहीं है. प्रबंधन वैसे दोषी बच्चों को चिन्हित कर कार्रवाई करे.

(रिपोर्ट- अनिल विशाल)

ये भी पढ़ें-

CM नीतीश कुमार की मौजूदगी में JDU में शामिल होंगे फातमी-सूत्र

प्रशांत किशोर का तंज, कहा- मुझे अखबारों से पता चलता है, मैं कहां काम कर रहा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नवादा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 23, 2019, 11:05 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...