उपसभापति हरिवंश को लेकर सियासत तेज, CM नीतीश ने कहा- विपक्ष का बर्ताव बिहार की प्रतिष्ठा पर ‘चोट’

सीएम नीतीश कुमार ने राज्यसभा में विपक्ष के हंगामें को गलत बताया है. (फाइल फोटो)
सीएम नीतीश कुमार ने राज्यसभा में विपक्ष के हंगामें को गलत बताया है. (फाइल फोटो)

बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने नये कृषि विधेयक (Farm Bill) पर राज्यसभा में विपक्ष के हंगामें (Uproar) की निंदा की है. उन्होंने कहा कि उपसभा पति के साथ विपक्ष ने अच्छा व्यवहार नहीं किया है. इसका जवाब उनको जनता देगी.

  • भाषा
  • Last Updated: September 21, 2020, 10:47 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार (Bihar) में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के नेताओं ने कहा कि कृषि विधेयकों (Agricultural Bills) के राज्यसभा में पारित होने के दौरान उपसभापति हरिवंश के साथ विपक्ष के बर्ताव ने बिहार की प्रतिष्ठा को ‘चोट’ पहुंचायी है. इसका जवाब उन्हें राज्य की जनता देगी. इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बिहार में 14,260 करोड़ रुपये की लागत से 350 किलोमीटर लंबी नौ राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का शिलान्यास किया. इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री से कहा, 'कृषि के क्षेत्र में आपने जो नए दो कानून बनाये हैं, यह गांव एवं किसान के हित में है.

किसान जहां चाहें अपनी उपज बेंच सकते हैं. नीतीश ने कहा, ' वर्ष 2006 में बिहार में हम लोगों ने एपीएमसी (कृषि उपज बाजार समिति) कानून को समाप्त किया था ' उन्होंने कहा, ' राज्यसभा में कल जो कुछ हुआ है वह बहुत ही गलत था. इसकी जितनी निंदा की जाए वो कम है.' नीतीश ने कहा कि एपीएमसी से काफी दिक्कतें थीं। बिहार में एपीएमसी कानून हटाते वक्त बिहार विधानमंडल में भी विपक्ष ने कुछ ऐसा ही किया था.





बिहार में पैक्स के माध्यम से होती है अनाज की खरीद
उन्होंने प्रधानमंत्री से कहा, 'नये कानून के तहत कांट्रेक्ट फार्मिंग से किसान लाभान्वित होंगे. ये काम आम लोगों के हक में हुआ है. इसका लाभ सभी लोगों को मिलेगा. लोगों की आमदनी बढेगी.' नीतीश ने कहा कि बिहार में पैक्स (प्राइमरी एग्रीकल्चर कॉपरेटिव सोसाइटी) के माध्यम से अनाज की खरीद होती है.

Bihar Assembly Elections: इस बार चुनाव से पहले जनता मंत्रियों और विधायकों को रही खदेड़, क्या हैं इसके मायने

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कही ये बात
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा, ‘राज्यसभा के उपसभपति के साथ सदन में जो अमर्यादित घटना हुई, उसने पूरे बिहार की अस्मिता को ठेस पहुंचायी है. विपक्ष ने लोकतंत्र के मंदिर में जिस तरह का अमर्यादित व्यवहार किया है, वह निंदनीय है. इससे बिहार के सभी लोग मर्माहत हैं. विपक्ष के बर्ताव का बिहार की जनता करारा जवाब देगी.’ बाद में पत्रकारों को संबोधित करते हुए सुशील मोदी ने कहा, ' यह राज्यसभा के इतिहास में पहली बार हुआ. राजद जैसी पार्टी उन लोगों के साथ शामिल थी' उन्होंने कहा कि बिहार में एपीएमसी कानून हटाते वक्त बिहार विधानमंडल में भी विपक्ष ने कुछ ऐसा ही किया था. ये लोग सदन छोड़कर भाग गए थे.

सुशील ने आरोप लगाया कि राजद फिर से किसानों को बाजार समिति के चंगुल में फंसाने की साजिश कर रही है. राजद के नेता बिहार में फिर से बाजार समिति कानून लाना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जनता दल के लोगों से जानना चाहता हूं कि क्या वह फिर बाजार समिति का राज लाना चाहते हैं. बिहार के अंदर दोबारा लागू करेंगे. क्या फिर से बिहार में किसानों का शोषण होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज