• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • PATNA 1 LAKH 50 THOUSAND STUDENTS OF BIHAR AFFECTED DUE TO CANCELLATION OF CBSE EXAM NODELSP

बिहार: CBSE परीक्षा रद्द होने से डेढ़ लाख विद्यार्थियों पर प्रभाव, रिजल्ट के मानक पर संशय

केंद्र सरकार के इस फैसले का बिहार के लाखों छात्रों पर असर पड़ेगा. पटना जोन में इस साल करीब डेढ़ लाख छात्रों ने 12वीं की परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था,

सीबीएसई ने 12वीं की परीक्षा रद्द कर दी है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता वाली बैठक में सीबीएसई की 12वीं परीक्षा को रद्द करने का फैसला किया गया. इसका असर बिहार में भी करीब डेढ़ लाख छात्र-छात्राओं पर पड़ेगा. अभी यह तय होना बाकी है कि बारहवीं के नतीजे किस आधार पर जारी किए जाएंगे.   

  • Share this:
पटना. सीबीएसई (CBSE) ने 12वीं की परीक्षा रद्द कर दी है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ( Narendra Modi ) की अध्यक्षता वाली बैठक में सीबीएसई की 12वीं परीक्षा को रद्द करने का फैसला किया गया. इसका असर बिहार में भी करीब डेढ़ लाख छात्र-छात्राओं पर पड़ेगा. अभी यह तय होना बाकी है कि बारहवीं के नतीजे किस आधार पर जारी किए जाएंगे. संभव है कि इसमें भी 10वीं बोर्ड की तरह ही विधि अपनाई जाय.

केंद्र सरकार के इस फैसले का बिहार के लाखों छात्रों पर असर पड़ेगा. पटना जोन में इस साल करीब डेढ़ लाख छात्रों ने 12वीं की परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था, लेकिन अब सीबीएसई बोर्ड की ओर से परीक्षा रद्द करने का ऐलान किया गया है. बोर्ड द्वारा कक्षा 10वीं की परीक्षा पहले ही रद्द की जा चुकी है. पिछले कई दिनों से परीक्षा को लेकर काफी ऊहापोह की स्थिति बनी हुई थी. परीक्षा को लेकर अभिभावक और बच्चे भी काफी दबाव में थे.

राज्य सरकार से भी मांगे गए थे सुझाव

सीबीएसई बारहवीं की परीक्षा स्‍थगित करने का फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सहित केंद्रीय मंत्रिमंडल के कई वरिष्‍ठ मंत्रियों के समूह ने बैठक के बाद लिया है. केंद्र सरकार ने ये फैसला लेने से पहले सभी राज्यों से भी इसपर सुझाव मांगे थे जिसमें बिहार के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने सरकार को ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करने और अधिक से अधिक वस्‍तुनिष्‍ठ सवाल पूछे जाने की सलाह दी थी.  बैठक में राज्यों  के सुझाव पर भी विचार किया गया, हालांकि सरकार कोरोना की स्थिति सामान्‍य होने के बाद परीक्षा देने के लिए इच्‍छुक छात्र-छात्राओं को मौका देने पर विचार कर सकती है