होम /न्यूज /बिहार /बिहार से दिल्ली भागकर ढ़ाबे में बर्तन धो रहा था 11 साल का सूरज, डेढ़ साल बाद फेसबुक ने दोबारा परिवार से मिलाया

बिहार से दिल्ली भागकर ढ़ाबे में बर्तन धो रहा था 11 साल का सूरज, डेढ़ साल बाद फेसबुक ने दोबारा परिवार से मिलाया

बिहार के मनेर में एक बच्चे को उसके परिवार से फेसबुक ने मिलवाया (सांकेतिक चित्र)

बिहार के मनेर में एक बच्चे को उसके परिवार से फेसबुक ने मिलवाया (सांकेतिक चित्र)

Patna News: फेसबुक के माध्यम से परिवार से दोबारा मिलने वाले सूरज को लाने के लिए पटना के मनेर थाना की एक टीम परिजनों के ...अधिक पढ़ें

पटना. फेसबुक (Facebook) की सार्थकता को लेकर समाज में हमेशा से सवाल खड़े होते रहते हैं लेकिन बिहार में सोशल मीडिया (Social Media) के इस वर्चुअल प्लेटफार्म ने एकबिछड़े हुए बेटे को मां और उसके परिवार से ऐसे मिलाया कि सभी सोशल मीडिया के इस प्लेटफार्म के मुरीद हो गए.

दरअसल पिछले 16 माह से लापता 11 वर्षीय सूरज का पता फेसबुक के माध्यम से चला और उसकी घर वापसी का रास्ता साफ हो गया. पटना से सटे मनेर के महीनवां गांव निवासी जय प्रकाश राय का पुत्र सूरज 11 अगस्त 2019 को घर से भागकर दिल्ली चला गया था तब से उसकी मां के साथ-साथ उसके परिजन उसकी तलाश जगह-जगह कर रहे थे. इसी दौरान सूरज से जुड़ी जानकारी फेसबुक के जरिये सूरज के परिजनों को हुई और अब वो लोग सूरज को लाने दिल्ली जाने वाले हैं.

सूरज बीते 16 माह से पहले जब मनेर से गायब हुआ तो वह दिल्ली में बाल मजदूरी करते हुए चाय ढाबा होटलों में काम करता रहा. इसी बीच दिल्ली में रह रहे अनवर शाहिद नाम का एक युवक से सूरज की मुलाकात हो गई. अनवर ने सूरज से उसका नाम और पता पूछकर एक वीडियो बनाया और फेसबुक पर अपलोड कर दिया लेकिन सूरज अपने घर का पूरा पता नहीं बता पा रहा था. अनवर के फेसबुक पेज पर अपलोड सूरज का यह वीडियो दिल्ली से ग्यारह सौ किलोमीटर दूर उसके स्कूल के एक शिक्षक ने देखा तो तुरंत उसे पहचान गया और इसकी जानकारी सूरज के परिजनों एवं मनेर थानाध्यक्ष मधुसूदन कुमार को दी.

थानाध्यक्ष ने फेसबुक पर अनवर शाहिद को सर्च किया एवं उससे सम्पर्क कर सूरज के बारे में विस्तृत जानकारी ली. मनेर थानाध्यक्ष मधुसूदन कुमार ने बताया कि शुक्रवार को ही सूरज दिल्ली में अनवर को मिला है और वह अभी उसी के पास है. अनवर शाहिद दिल्ली के गीता कॉलोनी थाना के कृष्णानगर में रहते हैं. पुलिस परिजनों को लेकर सूरज को रेस्क्यू करने दिल्ली जा रही है. सूरज की मां सुनीता देवी सूरज के मिलने की खुशी में उसे कलेजे से लगाने को बेचैन हैं. जाग-जाग कर रातें काटने वाली सुनीता समेत मनेर के लोग सूरज के आने का इंतजार कर रहे हैं.

Tags: Body missing, Facebook, Facebook Tips, PATNA NEWS

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें