Bihar News: राज्यपाल कोटे से MLC बनेंगे उपेंद्र कुशवाहा, देखें विधान परिषद जाने वाले नेताओं की पूरी लिस्ट

रालोसपा के उपेंद्र कुशवाहा दूसरी बार नीतीश कुमार के साथ आए हैं. इससे पहले 2009 में उन्होंने अपनी पार्टी का जेडीयू में विलय कराया था.

Bihar MLC List: JDU में शामिल होने के मौके पर उपेन्द्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) पूरे तेवर में थे. उन्होंने कहा था कि मैं फिर से अपने उसी घर में आया हूं. लोग पूछते हैं कि मैं किस शर्त पर आया हूं. मैंने साफ कर दिया है कि मैंने कोई शर्त नहीं रखी है.

  • Share this:
    पटना. इस वक्त की बड़ी खबर बिहार की राजधानी पटना (Patna) से आ रही है, जहां राज्यपाल कोटे से विधान परिषद (Bihar Legislature Council) जाने वाले सदस्यों के नाम तय कर लिए गए हैं. विधान परिषद जाने वाले जिन चेहरों के नाम पर राज्यपाल की मुहर लगी है, उनमें सबसे ऊपर उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) का नाम है. 14 मार्च को अपनी पार्टी रालोसपा (RLSP) समेत जनता दल यूनाइटेड की सदस्यता लेने वाले उपेंद्र कुशवाहा को एक बार फिर से नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने तवज्जो देते हुए विधान परिषद भेजने का फैसला लिया है. इससे पहले उनको पार्टी में शामिल होते ही संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में जगह दी गई थी.

    उपेंद्र कुशवाहा के अलावा जिन अन्य चेहरों को विधान परिषद की सदस्यता दी जाएगी, उनमें बिहार सरकार के मंत्री अशोक चौधरी, जनक राम के अलावा राम वचन राय, जेडीयू के प्रवक्ता संजय कुमार सिंह, ललन कुमार सर्राफ, डॉ. राजेंद्र प्रसाद गुप्ता, संजय सिंह, निवेदिता सिंह, देवेश कुमार, डॉक्टर प्रमोद कुमार, घनश्याम ठाकुर का नाम शामिल है.

    उपेंद्र कुशवाहा ने जेडीयू में शामिल होने के बाद कहा था कि वो बिना किसी शर्त और स्वार्थ के अपने दल का विलय करने जेडीयू में आए हैं और उनको किसी भी पद की लालसा नहीं है लेकिन नीतीश कुमार ने उनको पार्टी ज्वाइन करने के तीन दिन बाद ही एक तरीके से रिटर्न गिफ्ट दे दिया है.

    मालूम हो कि राज्यपाल कोटे की एमएलसी सीटों पर कला, विज्ञान, साहित्य और समाजसेवा के क्षेत्रों से आने वाले लोगों को मनोनीत किया जाता है. राज्यपाल द्वारा मनोनीत होने वाले एमएलसी सदस्यों के नामों की सिफारिश राज्य सरकार ही करती है. इसके बावजूद यह राज्यपाल पर निर्भर करता है कि वह सरकार की सिफारिश को मानें या उसे लौटा दें. लेकिन, राज्य सरकार की दोबारा भेजी गई सिफारिश को राज्यपाल की मंजूरी मिल जाती है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.