कोरोना की संभावित तीसरी लहर से पहले बिहार में चालू होंगे 122 ऑक्सीजन प्लांट

राज्य के पहले पीएसए ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट का आईजीआईएस में पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने उद्घाटन किया.

पीएम केयर फंड के सहयोग से राज्य में तैयार हो रहे 122 ऑक्सीजन प्लांट का काम काफी तेजी से चल रहा है. इन्हें 31 अगस्त तक शुरू करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. आईजीआईएमएस के बाकी 3 प्लांट को 15 अगस्त तक शुरू करने का लक्ष्य है.

  • Share this:
पटना. कोरोना की दूसरी लहर से सबक लेने के बाद बिहार अब ऑक्सीजन मामले में आत्मनिर्भर राज्य बनने जा रहा है. राज्य के हर जिलों में अब अपना ऑक्सीजन प्लांट होगा. पीएम केयर फंड के सहयोग से राज्य में तैयार हो रहे 122 ऑक्सीजन प्लांट का काम काफी तेजी से चल रहा है. पटना के पीएमसीएच, एनएमसीएच और आईजीआईएस में ऑक्सीजन प्लांट तेजी से तैयार हो रहा है. इनके अलावा राज्य के बाकी सभी 7 मेडिकल कॉलेज समेत कुल 122 जगहों पर भी प्लांट लगाए जा रहे हैं.

राज्य के पहले पीएसए ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट का आईजीआईएस में पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के हाथों उद्घाटन भी कर दिया गया. कुल 60 लाख की लागत से बने इस जेनरेशन प्लांट के शुरू होने से अब 233 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन तैयार होगी. यह प्लांट हवा से ऑक्सीजन तैयार करेगा. स्वास्थ्य मंत्री ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि चाहे कोरोना की कोई भी लहर आएगी, लेकिन अब राज्य में ऑक्सीजन की कमी नहीं होने देंगे. उन्होंने बताया कि राज्य के 122 जगहों पर पीएसए प्लांट तैयार किया जा रहा है, जिन्हें 31 अगस्त तक शुरू करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है.

वहीं आईजीआईएमएस में बाकी 3 और प्लांट का निर्माण कार्य जारी है, जिन्हें 15 अगस्त तक शुरू करने का लक्ष्य है. इस दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री ने भी ऑक्सीजन प्लांट शुरू होने पर प्रसन्नता जाहिर की और कहा कि केंद्रीय मंत्री रहते हुए हमने आईजीआईएमएस और फतुहा के लिए ऑक्सीजन प्लांट दिलवाया, जो कि बिहार के लिए मील का पत्थर साबित होगा. रविशंकर ने स्वदेशी वैक्सीन को लेकर पीएम मोदी की तारीफ की और कहा कि देश के 38 करोड़ लोगों को अब वैक्सीन दी जा चुकी है और साल के अंत तक 180 करोड़ से लेकर 200 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य है.

आपको बता दें कि कोरोना की तीसरी लहर से पहले ऑक्सीजन प्लांट के अलावा राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज से लेकर सदर अस्पतालों में ऑइसीयू बढ़ाने के साथ वेंटिलेटर इंस्टॉल किए गए हैं, ताकि मरीजों को न तो बेड का अभाव हो और न ही वेंटिलेटर की कमी हो.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.