होम /न्यूज /बिहार /करनाल में टाउनशिप बनाने के नाम पर 15 करोड़ की ठगी, पटना से आरोपी जालसाज गिरफ्तार

करनाल में टाउनशिप बनाने के नाम पर 15 करोड़ की ठगी, पटना से आरोपी जालसाज गिरफ्तार

करनाल में टाउनशिप डेवलप करने के नाम पर 15 करोड़ रुपये के ठगी मामले में आरोपी सलिल नारायण को हरियाणा पुलिस पटना आ कर गिरफ्तार कर उसे अपने साथ ले गई है

करनाल में टाउनशिप डेवलप करने के नाम पर 15 करोड़ रुपये के ठगी मामले में आरोपी सलिल नारायण को हरियाणा पुलिस पटना आ कर गिरफ्तार कर उसे अपने साथ ले गई है

Bihar News: हरियाणा के करनाल में टाउनशिप बनाने के नाम पर 15 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में जांच के तहत हरियाणा पुल ...अधिक पढ़ें

पटना. हरियाणा में पंद्रह करोड़ की ठगी करने वाले शातिर जालसाज को बिहार की राजधानी पटना (Patna) से गिरफ्तार किया गया है. हरियाणा पुलिस (Haryana Police) ने पटना पुलिस (Patna Police) के सहयोग से आरोपी को गोलघर (Gol Ghar) के पास से धर दबोचा है. जिसके बाद सलिल नारायण नाम के इस शख्स को हरियाणा पुलिस रविवार की शाम अपने साथ लेकर हरियाणा के लिए रवाना हो गई है. पुलिस के मुताबिक 15 करोड़ की धोखाधड़ी (Fraud) के मामले में सलिल नारायण समेत कुल आधा दर्जन नामजद आरोपी हैं. धोखाधड़ी का यह मामला वर्ष 2008 से चला आ रहा था.

मिली जानकारी के मुताबिक हरियाणा के करनाल जिले के पुष्कर और इंद्री में टाउनशिप (Township) बनाने की योजना थी. इसके लिए 31 लाख रुपये प्रति कट्ठा के हिसाब से 26.075 एकड़ जमीन की डील की गई थी. यह जमीन वहां के रहने वाले धर्मपाल और उनकी पत्नी अनुप्रिया के नाम पर थी. इस मामले को लेकर केस दर्ज कराने वाले संजीव कुमार ने धर्मपाल, उनकी पत्नी अनुप्रिया, बेटे अमित और पटना के रहने वाले सलिल नारायण व शिक्षा नारायण को केस का आरोपी बनाया था. थाना में दर्ज केस 715/21 में संजीव कुमार ने आरोप लगाया था कि इन सभी लोगों ने मिल कर जमीन के नाम पर उनसे धोखाधड़ी की है. करनाल में सीसी प्राइवेट लिमिटेड के मालिक संजीव कुमार के द्वारा अभी तक इस पर 10 करोड़ रुपये खर्च करने की बात कही गई है.

संजीव कुमार ने दर्ज केस में आरोप लगाया है कि धर्मपाल और अनुप्रिया ने मिलकर एडवांस में उनसे 2.25 करोड़ रुपये ले लिये थे. पुलिस के मुताबिक एग्रीमेंट होने के बावजूद सभी आरोपियों ने मिलकर फर्जी तरीके से जमीन अपने नाम करवाया. साथ ही फर्जी कंपनी बनवाई, फर्जी लेटर हेड बनाया और करोड़ों रुपए का सामान चोरी किया. धोखे से 15 करोड़ के फर्जी कागज तैयार कर जमीन हड़पने का प्रयास किया गया. इतना ही नहीं आरोपियों ने शिकायतकर्ता संजीव कुमार के द्वारा एडवांस में दी गई रकम को भी अपने पास रख लिया.

इन्हीं आरोपों के आधार पर पुलिस केस दर्ज किया गया था. इसमें जांच के बाद करनाल से पुलिस की टीम पटना आई थी. यहां पटना पुलिस के साथ संयुक्त छापेमारी कर आरोपी सलिल नारायण को गिरफ्तार कर लिया गया था.

Tags: Bihar News in hindi, Crime News, Fraud case, Haryana police, Patna Police

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें