• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • Nitish Cabinet: नीतीश मंत्रिमंडल के 17 नए मंत्रियों में से 15 करोड़पति, जानें किसके पास है सबसे अधिक संपत्ति

Nitish Cabinet: नीतीश मंत्रिमंडल के 17 नए मंत्रियों में से 15 करोड़पति, जानें किसके पास है सबसे अधिक संपत्ति

नीतीश मंत्रिमंडल के नए मंत्रियों में नीरज कुमार बबलू के पास सबसे अधिक संपत्ति है.

नीतीश मंत्रिमंडल के नए मंत्रियों में नीरज कुमार बबलू के पास सबसे अधिक संपत्ति है.

Nitish Cabinet News: नीतीश मंत्रिमंडल में मंगलवार यानी 9 फरवरी को 17 नए मंत्रियों को शामिल किया गया है. इनमें से 15 मंत्री करोड़पति हैं, तो दो के पास एक करोड़ से कम की चल-अचल संपत्ति है.

  • Share this:

    पटना. बिहार के मुख्‍यमंत्री की 7वीं बार शपथ लेने के 84 दिन बाद नीतीश मंत्रिमंडल (Nitish Cabinet) में 17 नए मंत्रियों को शामिल किया गया. इन 17 मंत्रियों में से 15 करोड़पति हैं. नीतीश मंत्रिमंडल में भाजपा नेता नीरज कुमार बबलू (Neeraj Kumar Bablu ) सर्वाधिक 14 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति के साथ अमीर नेता हैं, जो कि दिवंगत बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के चचेरे भाई हैं. इसके अलावा मो. जमा खान के पास सबसे कम 30 लाख रुपये की संपत्ति है.

    बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के दौरान भारत निर्वाचन आयोग के समक्ष इन लोगों ने अपना संपत्तियों का ब्यौरा दाखिल किया था. उसे मुताबिक, नीतीश के 17 में से 15 मंत्रियों के पास 1 से 14 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति है. नीरज कुमार बबलू (14 करोड़) के अलावा संजय झा के पास आठ करोड़, सम्राट चौधरी के पास 7 करोड़ और भोरे (सु) विधानसभा क्षेत्र से विधायक सुनील कुमार के पास छह करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति है.

    वहीं, भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन के पास 3.92 करोड़ की संपत्ति ( 22,78,145 रुपये की चल व 3,70,00,000 रुपये की अचल) है. इसके अलावा आलोक रंजन के पास 4.15 करोड़, प्रमोद कुमार के पास 3.83 करोड़, सुमित कुमार सिंह के पास 3.68 करोड़, श्रवण कुमार के पास 2.39 करोड़, लेसी सिंह के पास 2.53 करोड़, मदन सहनी के पास 2.02 करोड़, सुभाष सिंह के पास 2.17 करोड़, नितिन नवीन के पास 1.74 करोड़, नारायण प्रसाद के पास 1.76 करोड़ और जनक राम के पास 1.06 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति है. जबकि जयंत राज के पास 61 लाख 67 हजार 889 रुपये और मो. जमा खान के पास 30 लाख रुपये की चल-अचल संपत्ति है.

    बता दें कि मंगलवार को भाजपा के 9 और जेडीयू के आठ नेताओं ने कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली. इस दौरान बीजेपी के कद्दावर नेता शाहनवाज हुसैन को उद्योग मंत्री और श्रवण कुमार को ग्रामीण विकास मंत्री बनाया गया है. वहीं, जेडीयू नेता मदन सहनी को समाज कल्याण विभाग, प्रमोद कुमार को गन्ना उद्योग और विधि, संजय कुमार झा को जल संसाधन तथा सूचना एवं जन संपर्क, लेसी सिंह को खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री और सम्राट चौधरी को पंचायती राज मंत्री बनाया गया है. सुशांत सिंह राजपूत के भाई नीरज कुमार सिंह को पर्यावरण मंत्री, सुभाष सिंह को सहकारिता मंत्री, नितिन नवीन को पथ निर्माण मंत्री जबकि सुमित कुमार सिंह को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय सौंपा गया है. जबकि बिहार के पूर्व डीजी सुनील कुमार को मद्य निषेध जबकि नारायण प्रसाद को पर्यटन, जयंत राज को ग्रामीण कार्य, आलोक रंजन को कला संस्कृति, जमा खान को अल्पसंख्यक कल्याण और जनक राम को खान एवं भूतत्व मंत्रालय का जिम्मा सौंपा गया है.

    भाजपा के कोटे से 17 मंत्री तो…
    नीतीश मंत्रिमंडल में बीजेपी के मंत्रियों की संख्या 16 हो गई तो जेडीयू कि मंत्रियों की संख्या 12 रह गई. नीतीश कुमार मंत्रियों की संख्या के लिहाज से छोटे भाई की भूमिका में आ गए हैं. इसके लिए संविधान के नियम भी आड़े आ गए हैं, जिसके मुताबिक सदन में कुल सदस्य के संख्या के लिहाज से 15 प्रतिशत ही मंत्री बन सकते हैं. इस वक्त बिहार में कुल 243 विधायक है और इसका 15 प्रतिशत 36 होता है. यानी हर साढ़े तीन विधायक पर एक मंत्री बन सकता है. इस लिहाज से देखे तो बीजेपी के हिस्से में लगभग 22 और जेडीयू कोटे में 14 आते हैं. फिलहाल बीजेपी के कोटे से 16 और एक वीआईपी समेत 17 मंत्री हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज