Home /News /bihar /

बिहार में बन रहे 6 लेन के दो बड़े पुल, इन 8 जिलों को होगा सीधा फायदा, यहां जानें पूरा रूट

बिहार में बन रहे 6 लेन के दो बड़े पुल, इन 8 जिलों को होगा सीधा फायदा, यहां जानें पूरा रूट

पटना को उत्तर बिहार से जोड़ने के लिए 5 पुल हो जाएंगे.

पटना को उत्तर बिहार से जोड़ने के लिए 5 पुल हो जाएंगे.

Six Lane Bridge over River ganga in Bihar: बिहार में बन रहे सिक्स लेन के दो बड़े पुलों के बन जाने से वैशाली, समस्तीपुर, दरभंगा, बेगूसराय, गोपालगंज, छपरा, सीवान और पटना को सीधा फायदा मिलेगा. कच्ची दरगाह से बिदुपुर के बीच बन रहे लगभग 10 किमी लंबे पुल का पटना सिरा एनएच-30 पर सबलपुर में तो वैशाली जिले से जुड़ने वाला सिरा एनएच-103 पर सरमस्तीपुर में गिर रहा है. वहीं, शेरपुर-दिघवारा सिक्स लेन ब्रिज की लंबाई 11 किमी है. इस सेतु के बनने से सारण प्रमंडल के तीनों जिलों सारण, सीवान और गोपालगंज के लोगों को सीधा फायदा होगा. इस पुल के बन जाने से इन तीनों जिलों के लोगों का सीधा कनेक्शन निर्माणाधीन बिहटा एयरपोर्ट से हो जाएगा.

अधिक पढ़ें ...

पटना. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के केंद्रीय नेतृत्व व बिहार की नीतीश कुमार की सरकार के बीच बेहतर तालमेल का असर बिहार की विकास योजनाओं में भी दिख रहा है. इसी का नतीजा है कि लगातार इन्फ्रास्ट्क्चर की कई परियोजनाएं बिहार के हिस्से आ रही हैं और उनपर कार्य भी जारी है. इसी क्रम में बिहार की राजधानी पटना में गंगा नदी के पूर्वी व पश्चिमी छोर पर दो बड़े पुलों का निर्माण हो रहा है. इसके बन जाने से बिहार की राजधानी पटना से उत्तर बिहार को जोड़ने के लिए कुल 4 सड़क पुल हो जाएंगे. इसके साथ ही एक रेल सह सड़क पुल भी है. नए बन रहे पुलों में दीघा जेपी सेतु के समानंतर 6 लेन पुल प्रस्तावित है. इसी तरह कच्ची दरगाह से बिदुपुर के बीच लगभग 10 किमी लंबा पुल बन रहा है. वहीं, शेरपुर और दिघवारा के बीच भी पुल बन रहा है. राजधानी को उत्तर बिहार से जोड़ने के लिए पहले से महात्मा गांधी सेतु और जेपी रेल सह सड़क सेतु पहले से मौजूद है.

बता दें कि पूर्वी छोर पर 6 लेन की कच्ची दरगाह-बिदुपुर सेतु है जो महात्मा गांधी सेतु से भी 13 किमी पूर्व में है, इसकी लंबाई 9.76 किमी होगी. वहीं, पश्चिमी छोर पर बन रहे शेरपुर-दिघवारा सिक्स लेन ब्रिज की लंबाई 11 किमी है. कच्ची दरगाह-बिदुपुर सेतु के निर्माण का लक्ष्य 2024 है. बता दें कि इसका शिलान्यास अगस्त, 2015 और कार्य की शुरुआत फरवरी, 2016 में की गई. लगभग 10 किमी इस लंबे पुल का पटना सिरा एनएच-30 पर सबलपुर में तो वैशाली जिले से जुड़ने वाला सिरा एनएच-103 पर सरमस्तीपुर में गिर रहा है. पटना की तरफ कच्ची दरगाह से नवनिर्मित पटना-बख्तियारपुर (एनएच-30) हाईवे तक एप्रोच रोड बनेगा. इससे उत्तर और दक्षिण बिहार के विकास का रास्ता प्रशस्त होगा. गांधी सेतु का यह सबसे बढ़िया विकल्प होगा. बता दें कि गंगा में कच्ची दरगाह-बिदुपुर ब्रिज में कुल 87 पिलर हैं.

गौरतलब है कि उत्तर दिशा में सड़क की लंबाई 8 किलोमीटर से अधिक है. कुल संपर्क पथ की लंबाई 13 किलोमीटर है. यह पुल महात्मा गांधी सेतु से लगभग 10 किलोमीटर पूरब गंगा नदी पर कच्ची दरगाह और बिदुपुर के बीच बन रहा है. पुल की प्रमुख विशेषताओं में 8 रैंप शामिल हैं, जो विभिन्न जगहों पर बनाए जाएंगे. इस रूट में मेजर जंक्शन 6, फ्लाई ओवर 2 भी बनेंगे. इससे पुल पर निर्बाध आवागमन आसानी से जारी रखा जा सकेगा.

पटना जिले के सबलपुर के निकट एनएच 30 से होते हुए गंगा नदी पार कर राघोपुर दियारा अंचल के 7 राजस्व गांवों रुस्तमपुर, जहांगीरपुर, सैफाबाद, कर्मोपुर, हेमतपुर, जफराबाद आदि से होकर गुजर रही है. दियारा क्षेत्र में डायवर्सन के माध्यम से रोड नीचे उतारे जा रहे हैं, ताकि दियारे के लोग सभी मौसम में बिना रुकावट के कही भी आ-जा सकें.

शेरपुर-दिघवारा सिक्स लेन ब्रिज
पटना रिंग रोड के तहत शेरपुर-दिघवारा सिक्स लेन ब्रिज के लिए जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई जारी है. रिंग रोड के पैकेज-2 के तहत 24 किमी लंबे (कन्हौली-शेरपुर-दिखवारा खंड) हिस्से पर शेरपुर-दिघवारा सिक्स लेन ब्रिज की लंबाई 11 किमी है. इस ब्रिज के बनने से सारण प्रमंडल के तीनों जिलों सारण, सीवान और गोपालगंज के लोगों को सीधा फायदा होगा.

इस पुल के बन जाने से इन तीनों जिलों के लोगों का सीधा कनेक्शन निर्माणाधीन बिहटा एयरपोर्ट से हो जाएगा. इन जिलों के लोगों को पटना आने के लिए शीतलपुर, सोनपुर या हाजीपुर की तरफ आने की जरूरत नहीं पड़ेगी. साथ ही छपरा शहर से बिहटा एयरपोर्ट की दूरी 30-40 किलोमीटर तक कम हो जाएगी. गौरतलब है कि पटना, सारण और वैशाली जिले की यातायात व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए 138 किलोमीटर लंबी पटना रिंग रोड भी बन रहा है.

यहां यह भी बता दें कि पटना को उत्तर बिहार से जोड़ने वाले इन पुलों की कुल लंबाई 41 किमी होगी और कुल 28 लेन हो जाएंगे. वहीं, दीघा पहलेजा रेल लाइन का दोहरीकरण का कार्य पूरा हो चुका है और जल्दी ही सीआरएस निरीक्षण के बाद इसपर भी परिचालन शुरू कर दिया जाएगा. फिलहाल सिंगल लाइन होने के कारण एक ही ट्रैक से ट्रेन का आना-जाना होता है.

Tags: Bihar latest news, Samastipur news, Saran News, Vaishali news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर