Home /News /bihar /

बिहार: आपदा से निपटने को 22 अधिकारियों की टीम गठित, पटना में 34 हजार लोगों को बचाया गया

बिहार: आपदा से निपटने को 22 अधिकारियों की टीम गठित, पटना में 34 हजार लोगों को बचाया गया

पटना डीएम रविकुमार के मुताबिक जिले के राजेन्द्र नगर इलाके से अब तक 34 हजार लोगों को रेस्क्यू
किया गया है.

पटना डीएम रविकुमार के मुताबिक जिले के राजेन्द्र नगर इलाके से अब तक 34 हजार लोगों को रेस्क्यू किया गया है.

बिहार (Bihar) में बारिश और बाढ़ (Rain and Flood) की आपदा से निपटने के लिए 2 IAS और 20 बिहार प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों की टीम का गठन किया गया है. बाढ़ से अभी तक 28 लोगों की मौत हो चुकी है.

    पटना. बिहार (Bihar) के (Patna) में बारिश और बाढ़ (Rain and Flood) की आपदा से निपटने के लिए नीतीश सरकार (Nitish Government) ने 2 IAS और 20 बिहार प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों की टीम का गठन किया गया है. राज्य में भारी बारिश से उपजे हालात को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने भी राज्य के सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) से बातचीत की है. पीएम मोदी ने ट्वीट कर बताया है कि केंद्र सरकार ने हर संभव मदद का आश्वासन दिया है.

    जारी है रेस्क्यू ऑपेरशन
    पटना डीएम रवि कुमार के मुताबिक जिले के राजेन्द्र नगर इलाके से अब तक 34 हजार लोगों को रेस्क्यू
    किया गया है. रविवार से लगातार राहत और बचाओ अभियान चल रहा है. एनडीआरएफ (NDRF) के प्रवक्ता ने कहा, 'सोमवार को पटना से महिलाओं, बच्चों, मरीजों और बुजुर्गों सहित बड़ी संख्या में लोगों को निकाला गया है. एनडीआरएफ ने उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है.'

    उन्होंने बताया कि राजधानी और आस-पास के इलाकों जैसे राजेन्द्र नगर, कंकड़ बाग, पत्रकार नगर, हनुमान नगर और मलाही पकड़ी में सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ है.  उन्होंने बताया कि अधिकतर स्थानों में जलजमाव के कारण लोग अपने घरों में फंसे हुए हैं. पटना बाढ़ जैसी स्थिति से सर्वाधिक प्रभावित स्थान है.' पटना के लिए एनडीआरएफ ने 5 दल तैनात किए हैं और प्रत्येक दल में 45 जवान हैं. पिछले तीन दिन से हो रही बारिश से पटना जलभराव की समस्या से जूझ रहा है.



    क्या है पूरे राज्य की स्थिति
    राज्य के अन्य हिस्सों पर उन्होंने कहा कि एनडीआरएफ ने राहत कार्यों के लिए बिहार के 14 जिलों में कुल 19 दल तैनात किए हैं. इनमें से दो दल भागलपुर में वहीं बक्सर, मुंगेर, बेगुसराय, गोपलगंज, किशनगंज, कटिहार, खगड़िया, मधुबनी, सुपैल ,वैशाली, अररिया और दरभंगा में एक-एक टीम तैनात की गईं हैं. इस मॉनसूनी मौसम में राज्य में बाढ़ प्रभावित 8,603 लोगों को बल ने सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है जिनमें 20 गर्भवती महिलाएं भी शामिल हैं. दल ने अब तक 5,806 लोगों को चिकित्सकीय सहायता भी मुहैया कराई है.

    हेलिकाप्टर से गिराए गए खाने के पैकेट
    जलभराव की गंभीर स्थिति के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को हालात का जायजा लेने के लिए शहर का हवाई दौरा किया. वहीं पानी में फंसे लोगों के लिये वायुसेना के हेलिकॉप्टर की मदद से खाने के पैकेट और दूसरी राहत सामग्री गिराई गई.

    आपदा प्रबंधन विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक वायुसेना के एक हेलिकाप्टर की मदद से पटना शहर के जलमग्न इलाकों फंसे लोगों के लिए दो हजार खाने के पैकेट और अन्य आवश्यक राहत सामाग्री गिराये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है.

    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जल संसाधन मंत्री संजय झा और मुख्य सचिव दीपक कुमार के साथ पटना शहर एवं उसके आस पास के जल जमाव से प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया.

    डिप्टी सीएम और शारदा सिन्हा को किया गया रेस्क्यू
    पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि के नेतृत्व में बचाव दल ने जल भराव के कारण राजेंद्र नगर स्थित अपने घर में तीन दिनों से फंसे उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को सोमवार को उनके परिवार के अन्य सदस्यों के साथ नाव के जरिए निकाला.

    नौका से उतरने पर उपमुख्यमंत्री से जब मीडियाकर्मियों ने यह पूछा गया कि उनके इलाके में बहुत अधिक जलजमाव था और किस तरह की परिस्थिति का उन्हें सामना करना पड़ा, तो वे बिना कोई प्रतिक्रिया दिए वहां से रवाना हो गए. एनडीआरएफ की टीम ने राजेंद्रनगर के रोड नंबर छह में जलजमाव में फंसी मशहूर भोजपुरी गायिका शारदा सिन्हा और उनके परिवार के सदस्यों को सुरक्षित उनके आवास से निकाला.

    पटना शहर स्थित कृषि मंत्री प्रेम कुमार का सरकारी आवास सोमवार भी जलमग्न रहा और परिवार के सदस्य घर के उपरी मंजिल में रह रहे हैं.

    ये भी पढ़ें:
    देश में 25 साल का टूटा रिकॉर्ड, 1994 के बाद इस मानसून में हुई सबसे ज्यादा बारिश: मौसम विभाग

    Tags: Bihar floods, Bihar News, Narendra modi, Nitish kumar, Sushil kumar modi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर