पटना: गर्दनीबाग अस्पताल के कूड़े में मिले 36 ऑक्सीजन सिलेंडर, अधिकारियों ने दिया ये जवाब

मामले को लेकर सिविल सर्जन विभा कुमारी ने दिया बेतुका बयान

मामले को लेकर सिविल सर्जन विभा कुमारी ने दिया बेतुका बयान

Patna Gardanibagh Hospital: सभी 36 नए ऑक्सीजन सिलेंडर सिविल सर्जन और बिहार राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यालय के बीचों बीच फेंके गए. इस बाबत जब पटना के सिविल सर्जन से सवाल किया गया तब उन्होंने हकीकत छुपाने की पुरजोर कोशिश की.

  • Share this:

पटना. बिहार में ऑक्सीजन की कमी से कई जानें जा चुकी हैं. लोग सिलेंडर तक के लिए परेशान दिख रहे हैं. मदद के लिए सोशल मीडिया तक का सहारा लिया जा रहा है. कुछ को मिला तो कई को नहीं लेकिन गर्दनीबाग अस्पताल में 36 ब्रांड न्यू सिलेंडर अस्पताल परिसर में ही कचरे में मिले. ये सभी 36 नए ऑक्सीजन सिलेंडर सिविल सर्जन और बिहार राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यालय के बीचों बीच फेंके गए. इस बाबत जब पटना के सिविल सर्जन से सवाल किया गया तब उन्होंने हकीकत छुपाने की पुरजोर कोशिश की. कभी उन्होंने कहा कि यह यूज किए हुए सिलेंडर हैं तो कभी उन्होंने कहा जगह की कमी के कारण स्टोर रूम के बाहर रखा गया है. इतना ही नहीं उन्होंने तो यह भी कह डाला कि इसे इमरजेंसी के लिए रखे गए हैं.

राज्य सरकार और केंद्र सरकार लगातार कोशिश कर रही है कि इस महामारी के समय ऑक्सीजन की पूर्ति करवाई जा सके. ऐसे में राजधानी पटना के सिविल सर्जन के कार्यालय परिसर में ब्रांड न्यू ऑक्सीजन सिलेंडर फेंका होना घोर लापरवाही से कम नहीं. हालांकि जब इस लापरवाही को न्यूज़ 18 ने सबके सामने लाया तब आनन-फानन में सभी सिलेंडर को हटा दिया गया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज