बिहार में भी नियंत्रण से बाहर निकलता Corona, 24 घंटे में 4786 मरीजों के साथ फिर टूटा रिकॉर्ड

बिहार में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमितों को देखकर अब प्रशासन भी चिंता में है. (प्रतीकात्मक फोटो)

बिहार में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमितों को देखकर अब प्रशासन भी चिंता में है. (प्रतीकात्मक फोटो)

राज्य में हालात दिनों दिन खराब होते जा रहे हैं, वहीं पटना में हाल सबसे ज्यादा बुरे हैं, यहां पर करीब 36 इलाके हॉट स्पॉट (Hot Spot) घोषित हो गए हैं.

  • Share this:
पटना. कोरोना का संक्रमण अब बिहार (Bihar) में भी नियंत्रण के बाहर होता दिखाई दे रहा है. पिछले 24 घंटों की बात की जाए तो रिकॉर्ड 4786 मरीज मिले हैं. इसको देखते हुए अब लोगों में एक बार फिर कोरोना की दहशत फैल रही है. बिहार में एक्टिव मरीजों की संख्या अब 23724 पहुंच गई है. सबसे खराब हालात पटना में हैं जहां पर करीब 36 इलाके हॉट स्पॉट बन चुके हैं और यहां पर कोरोना की चपेट में सैकड़ाें लोग हर दिन आ रहे हैं. पटना में पिछले एक दिन में 1483 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं बात की जाए गया कि तो यहां पर 334 मरीज मिले हैं.

इधर, वहीं औरंगाबाद में 122 ,भोजपुर में 166, भागलपुर में 334 , मुजफ्फरपुर में 242, गोपालगंज में 105 समेत सभी जिलों में बड़ी संख्या में पॉजिटिव मरीज मिले हैं. वहीं राज्य में सैम्पल जांच की क्षमता भी लाख के हो गई है और 24 घंटे में 100134 सैंपलों की जांच की गई है.

अस्पतालों में बेड फुल

लगातार बढ़ते मरीजों की वजह से अस्पतालों में बेड फुल हैं जिसको लेकर अब पटना के जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह ने 14 अतिरिक्त निजी अस्पतालों को भी कोविड मरीजों के लिए चिन्हित किया है. जिसमें कुल 199 बेड की क्षमता होगी. अब पटना में 47 प्राइवेट अस्पतालों में 985 बेड की क्षमता होगी.
ये अस्पताल कोविड मरीजों के लिए

अब कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए जिन निजी अस्पतालों में कोविड पेशेंट्स भर्ती किए जा सकेंगे उनमें श्याम मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल, फुलवारी शरीफ, आनंदिता हॉस्पिटल राजेंद्र नगर, एसएस हॉस्पिटल अनीसाबाद,आयुष्मान केयर हॉस्पिटल दनियावां, सत्यदेव सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, मजिस्ट्रेट कॉलोनी, पाम व्यू हॉस्पिटल, अंबेडकर पथ पटना, मनोकामना सीसी एंड ई हॉस्पिटल, बिग्रहपुर, श्याम हॉस्पिटल, कंकड़बाग, सत्यम हॉस्पिटल, शेखपुरा बेली रोड, सन हॉस्पिटल कंकड़बाग मेन रोड, कुर्जी होली फैमिली, सदाकत आश्रम पटना, तारा हॉस्पिटल एंड मेडिकल रिसर्च सेंटर, बीपी कोइराला मार्ग, बैंक रोड पटना, एमआर हॉस्पिटल, राजा बाजार, सत्यव्रत हॉस्पिटल, कंकड़बाग हैं. दूसरी तरफ बिहटा के ईएअसाईसी अस्पताल को भी 500 बेड का कोविड हॉस्पिटल बनाया जा रहा है. स्वास्थ्य विभाग ने सेना को भी पत्र लिखकर 50 डॉक्टरों की मांग की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज