Home /News /bihar /

Jitan Ram Manjhi News: जीतन राम मांझी की 'भ्रष्‍ट बुद्धि' ठीक करने के लिए 51 पंडित करेंगे जाप

Jitan Ram Manjhi News: जीतन राम मांझी की 'भ्रष्‍ट बुद्धि' ठीक करने के लिए 51 पंडित करेंगे जाप

Manjhi vs Brahman: पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतन राम मांझी की सदबुद्धि के लिए 51 ब्राह्मण बगलामुखी जाप करने की घोषणा की है. (फाइल फोटो)

Manjhi vs Brahman: पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतन राम मांझी की सदबुद्धि के लिए 51 ब्राह्मण बगलामुखी जाप करने की घोषणा की है. (फाइल फोटो)

Bihar News: बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतन राम मांझी ने ब्राह्मण जाति के लिए आपत्तिजनक शब्‍दों का इस्‍तेमाल किया था. इसको लेकर काफी विवाद हो गया था. अब पूर्व सीएम ने ब्राह्मण-दलित एकता भोज करने का ऐलान किया है. यह भोज मांझी के सरकारी आवास पर दिया जाएगा. अब 51 ब्राह्मणों ने जीतन राम मांझी को सदबुद्धि देने के लिए विशेष जाप करेंगे.

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतन राम मांझी के ब्राह्मण-दलित एकता भोज को लेकर प्रदेश की सियासत गर्माई हुई है. जीतन राम मांझी ने ब्राह्मणों को लेकर आपत्तिजनक टिप्‍पणी की थी. इससे काफी विवाद हो गया था. साथ ही ब्राह्मण जाति में नाराजगी भी फैल गई थी. अब मांझी इस नाराजगी को दूर करने के लिए सोमवार को ब्राह्मण-दलित एकता भोज दे रहे हैं. उनकी इस घोषणा के बाद विरोध के स्‍वर भी उठने लगे हैं. 51 ब्राह्मणों ने मांझी को सदबुद्धि देने के लिए बगलामुखी जाप करने का ऐलान किया है. इन पंडितों का कहना है कि वह मांझी की भ्रष्‍ट बुद्धि ठीक करने और ईश्‍वर से उन्‍हें सदबुद्धिे देने की प्रार्थना करेंगे.

जीतन राम मांझी के आवास पर दोपहर 12:30 बजे ब्राह्मण-दलित एकता भोज का आयोजन किया जा रहा है. दूसरी तरफ, शाम को उनकी सदबुद्धि के लिए 51 पंडित बगलामुखी जाप करेंगे. जाप का आयोजन पटना के विजय राघव मंदिर में किया जाएगा. विजय राघव मंदिर के पंडित संजय कुमार तिवारी ने मांझी के भोज को लेकर तीखी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त की है. विजय राघव मंदिर प्रबंधन समिति की माने तो शाम 4 बजे मंदिर में बगलामुखी का जाप किया जाएगा. मंदिर में 51 पंडित एक साथ बगलामुखी का जाप करेंगे.

आखिर ऐसा क्‍या हुआ कि DSP को शौच लगी तो DRM से लेकर रेल मंत्री तक पहुंच गई बात? 

मंदिर के पुजारी ने कहा कि मांझी ने मांस-मछली खाने वाले ब्राह्मणों को अपने भोज में नहीं बुलाया है. हमलोग लहसुन-प्याज तक भी नहीं खाते हैं. हम चाहें तो ऐसे ही 1 लाख ब्राह्मण जुटा देंगे, लेकिन मांझी यह चेक करने वाले कौन होते हैं कि ब्राह्मण मांस-मछली नहीं खाएंगे? पहले से चली आ रही परंपरा ही अभी भी चलेगी.

गौरतलब है कि मांझी ने पटना में मुसहर भुइया समाज के कार्यक्रम में 1956 में बाबा भीमराव अंबेडकर द्वारा हिन्दू धर्म का परित्याग कर बौद्ध धर्म अपनाने की चर्चा करते हुए कहा था कि आजकल मुसहर टोली में सत्‍यनारायण भगवान की पूजा होने लगी है. मांझी ने पंडितों के लिए आपत्तिजनक शब्द का प्रयोग किया था, जिसके बाद विवाद खड़ा हो गया. बाद में मांझी ने सफाई दी कि वह ब्राह्मणों के नहीं ब्राह्मणवाद के खिलाफ हैं. मांझी ने आगे कहा कि जो ब्रह्म को जानते हैं, वही असली ब्राह्मण हैं. इसके बाद उन्होंने सोमवार को उन ब्राह्मणों को भोज पर आमंत्रित किया है, जिन्होंने कभी मांस-मछली और मदिरा का सेवन नहीं किया हो.

Tags: Bihar News, Former CM Jitan Ram Manjhi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर