बिहार: बिजली गिरने से अब तक 83 लोगों की मौत, आश्रितों को 4-4 लाख का मुआवजा देगी नीतीश सरकार
Patna News in Hindi

बिहार: बिजली गिरने से अब तक 83 लोगों की मौत, आश्रितों को 4-4 लाख का मुआवजा देगी नीतीश सरकार
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पीड़ित परिवारों को चार-चार लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मौसम विज्ञान केंद्र (Meteorological center) पटना ने आने वाले तीन दिनों तक बिहार के कई जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है.

  • Share this:
पटना. बिहार में लगातार हो रही भारी बारिश के बीच बिजली गिरने से 83 लोगों की मौत हो गई है. इसपर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) ने गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है. मुख्यमंत्री कार्यालय के जनसंपर्क कोषांग से जारी पत्र में कहा गया है कि राज्य में के विभिन्न जिलों में बिजली गिरने से 83 लोगों की मौत हो गई है. मुख्यमंत्री ने इस पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है और मृतकों के आश्रितों को चार-चार लाख रुपये अनुग्रह अनुदान देने का निर्देश दिया है.

बता दें कि सरकार द्वारा जारी आंकड़े के अनुसार बुधवार रात से शनिवार शाम 7 बजे तक भारी बारिश और बिजली गिरने के कारण राज्य  के विभिन्न जिलों में 83 लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें गोपालगंज में 13, पूर्वी चंपारण में 5, सीवान में 6,  दरभंगा में 5, बांका में 5, भागलपुर में 6, खगड़िया में 3, मधुबनी में 8,  पश्चिम चंपारण में 2,  समस्तीपुर में 1, शिवहर में 1, किशनगंज में 2, सारण में 1, जहानाबाद में 2, सीतामढ़ी में 1, जमुई में 2, नवादा में 8, पूर्णिया में 2,  सुपौल में 2, औरंगाबाद में 3, बक्सर में 2 मधेपुरा में 1 और कैमूर में 1 लोगों की मौत हुई है.

मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा कि आपदा की इस घड़ी में वे प्रभावित परिवारों के साथ हैं. उन्होंने  तत्काल मृतक के परिजनों को चार-चार लाख रुपये का अनुग्रह अनुदान देने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की है कि सभी लोग खराब मौसम में पूरी सतर्कता बरतें खराब मौसम होने पर बिजली गिरने से बचाव के लिए आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा समय-समय पर जारी किए गए सुझावों का अनुपालन करें खराब मौसम में घरों में रहें और सुरक्षित रहें.




मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट
बता दें कि मौसम विज्ञान केंद्र (Meteorological center) पटना ने आने वाले तीन दिनों तक बिहार  कई जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. इस अलर्ट के अनुसार कई जिलों में अत्यंत भारी वर्षापात एवं बिजली गिरने की आशंका है. इसके कारण जान माल की हानि होने, निचले स्थानों में जलजमाव, यातायात बाधित होने,  बिजली सेवा बाधित होने के साथ ही नदियों के जलस्तर में बढ़ोतरी होने की संभावना जताई गई है.

यहां होगी भारी बारिश
मौसम विभाग के अनुसार इसका मुख्य प्रभाव नेपाल (Nepal) के तराई से सटे क्षेत्र एवं उत्तर और मध्य बिहार के निम्न जिलों में होगा. मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार बिहार के 18 जिलों में इसका खास तौर पर इसका प्रभाव रहेगा. इनमें पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, गोपालगंज, सीवान, शिवहर, सीतामढ़ी, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, सारण, मधुबनी, सुपौल, अररिया, सहरसा, मधेपुरा, पूर्णिया, किशनगंज एवं कटिहार में रहने की संभावना है. ऐसे में मौसम विभाग ने लोगों को उचित सावधानी एवं सुरक्षा उपाय बरतने की सलाह दी है.



इन जिलों में रेड अलर्ट
शुक्रवार के लिए राज्य के लगभग 10 जिले रेड जोन में घोषित किए गए हैं. इनमें पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, अररिया, किशनगंज, पूर्णिया, सहरसा और मधेपुरा में भारी से भारी बारिश की स्थिति बन रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज