Bihar Chunav: दूसरे चरण के 500 से ज्यादा प्रत्याशियों पर क्रिमिनल केस तो 495 करोड़पति, ADR रिपोर्ट की 10 बातें

बिहार विधानसभा के दूसरे चरण के चुनाव मैदान में 500 से ज्यादा दागी उम्मीदवार.
बिहार विधानसभा के दूसरे चरण के चुनाव मैदान में 500 से ज्यादा दागी उम्मीदवार.

Bihar Assembly elections 2020: विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में 1463 में से 502 प्रत्याशियों के खिलाफ दर्ज हैं आपराधिक मामले. बिहार इलेक्शन वॉच और ADR की रिपोर्ट के मुताबिक इस चरण में 495 करोड़पति उम्मीदवार भी हैं मैदान में.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 9:00 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly elections) के दूसरे चरण का मतदान 3 नवंबर को होना है. इससे पहले बिहार इलेक्शन वॉच (Bihar Election Watch) और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स यानी एडीआर (ADR) ने इस फेज के प्रत्याशियों के आपराधिक रिकॉर्ड और संपत्ति के विवरण वाली रिपोर्ट जारी की है. एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक दूसरे चरण के चुनाव में 17 जिलों की 94 विधानसभा सीटों के कुल 1463 उम्मीदवारों में से 502 ने अपने ऊपर लगे आपराधिक मामले (Criminal Record) घोषित किए हैं. यह कुल आंकड़े का 34 प्रतिशत है. वहीं 389 उम्मीदवारों (27 प्रतिशत) ने अपने शपथ पत्र में गंभीर किस्म के आपराधिक मामलों की जानकारी भी दी है. इसके अलावा  ADR Report में 495 करोड़पति प्रत्याशियों के भी मैदान में किस्मत आजमाने की जानकारी दी गई है.



आपको बता दें कि बिहार इलेक्शन वॉच ने बिहार चुनाव के पहले चरण के लिए जारी ADR रिपोर्ट में 1064 उम्मीदवारों में से 328 के खिलाफ आपराधिक मामले होने की जानकारी सामने आई थी. वहीं 244 प्रत्याशियों के ऊपर गंभीर आपराधिक मामले होने की जानकारी भी सामने आई थी.
एडीआर रिपोर्ट के अनुसार दूसरे चरण के चुनाव में RJD के 56 में से 36 यानी 64 फीसदी उम्मीदवारों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज होने की जानकारी दी है. BJP के 46 में से 29 यानी 63 फीसदी, Congress के 24 में से 14 यानी 58 प्रतिशत, LJP के 52 में से 28, JDU के 43 में से 20 और BSP के 33 में से 16 प्रत्याशियों ने आपराधिक रिकॉर्ड में नाम होने की जानकारी दी है.
गंभीर किस्म के आपराधिक मामलों की जानकारी देने वालों में भी आरजेडी सबसे टॉप पर है. ADR रिपोर्ट के मुताबिक RJD के 56 में से 28, BJP के 46 में से 20, LJP के 52 में से 24, Congress के 24 में से 10, JDU के 43 में से 15 और BSP के 33 में से 14 उम्मीदवारों ने अपने ऊपर गंभीर आपराधिक मामलों की जानकारी घोषित की है.
दूसरे चरण के चुनाव के लिए मैदान में उतरे कुल 49 उम्मीदवारों ने महिलाओं के ऊपर अत्याचार से जुड़े मामलों की जानकारी दी है. वहीं 32 प्रत्याशियों ने अपने ऊपर हत्या से संबंधित मामले होने की जानकारी दी है. इसके अलावा 143 उम्मीदवारों पर हत्या के प्रयास करने के मामले दर्ज हैं.
बिहार चुनाव के दूसरे चरण के मतदान के लिए ADR ने 94 में से 84 निर्वाचन क्षेत्रों को संवेदनशील श्रेणी में माना है, जहां 3 या उससे अधिक प्रत्याशियों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले होने की जानकारी दी है.
ADR रिपोर्ट के मुताबिक बिहार चुनाव के दूसरे फेज में कुल 495 करोड़पति उम्मीदवार सियासी रण में किस्मत आजमाने उतरे हैं. इनमें से 118 प्रत्याशियों ने अपने पास 5 करोड़ रुपए या उससे अधिक की संपत्ति घोषित की है.
दूसरे चरण के चुनाव में 185 उम्मीदवार ऐसे हैं जिनके पास 2 से 5 करोड़ रुपए की संपत्ति है. वहीं 50 लाख से लेकर 2 करोड़ रुपए तक की संपत्ति रखने वाले प्रत्याशियों की संख्या 426 है.
एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक 10 से 50 लाख रुपए की संपत्ति की घोषणा करने वाले उम्मीदवारों की संख्या 462 है, जबकि चुनाव मैदान में खड़े 272 उम्मीदवारों ने अपने पास 10 लाख रुपए से कम की संपत्ति घोषित की है.
सबसे ज्यादा करोड़पति उम्मीदवार BJP की तरफ से मैदान में हैं. पार्टी के 46 में से 39 प्रत्याशी करोड़पति हैं. RJD के 56 में से 46, JDU के 43 में से 35 प्रत्याशी करोड़पति हैं. इसके अलावा LJP के 52 में से 38, Congress के 24 में से 20 और BSP के 33 में से 11 उम्मीदवार करोड़पति हैं.
ADR रिपोर्ट के मुताबिक दूसरे चरण के चुनाव में सबसे ज्यादा संपत्ति वाले उम्मीदवारों की लिस्ट में Congress के वैशाली सीट से उम्मीदवार संजीव सिंह का नाम टॉप पर है. उनके पास 56 करोड़ रुपए से ज्यादा की संपत्ति है.
धनाढ्य उम्मीदवारों की लिस्ट में दूसरा नाम वैशाली विधानसभा के ही RJD प्रत्याशी देव कुमार चौरसिया का है, जिन्होंने अपने पास 49 करोड़ की संपत्ति घोषित की है. वहीं टॉप-3 की लिस्ट में आखिरी नाम मुजफ्फरपुर जिले के पारू विधानसभा सीट के कांग्रेस प्रत्याशी अनुनय सिन्हा का है जिन्होंने 46 करोड़ रुपए की संपत्ति घोषित की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज