लाइव टीवी

50 साल बाद फिर शुरू होगा बिहार में गजट का प्रकाशन, सारण जिले से हुई शुरुआत

Sanjay Kumar | News18Hindi
Updated: February 8, 2020, 12:00 AM IST
50 साल बाद फिर शुरू होगा बिहार में गजट का प्रकाशन, सारण जिले से हुई शुरुआत
राजस्व और भूमि सुधार विभाग ने शुक्रवार को सारण जिले का गजट प्राशित किया. गौरतलब है कि बिहार में 1970 से गजट का प्रकाशन बंद था. (प्रतीकात्मक फोटो)

बिहार सरकार के संकल्प के अनुसार 2016 में जिले अनुसार गजेटियर का प्रकाशन का फैसला लिया गया और इसकी पूरी जिम्मेवारी राजस्व और भूमि सुधार विभाग को सौंपी गई. विभाग द्वारा बिहार के सभी 38 जिलों के गजेटियर के प्रकाशन की रूपरेखा तय कर ली गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 8, 2020, 12:00 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार सरकार ने 50 साल बार एक बार फिर गजट प्रकाशन का काम शुरू किया है. राजस्व और भूमि सुधार विभाग ने शुक्रवार को सारण जिले का गजट प्राशित किया. गौरतलब है कि बिहार में 1970 से गजट का प्रकाशन बंद था. लेकिन अब सरकार ने सारण जिले का गजट शुक्रवार को जारी किया. इसके साथ ही अब 38 जिलों के गजट के प्रकाशन की रूपरेखा तैयार कर ली गई है. एक के बाद एक अब सभी जिलों के गजट प्रकाशित किए जाएंगे.

2016 में लिया था फैसला
बिहार सरकार के संकल्प के अनुसार 2016 में जिले अनुसार गजेटियर का प्रकाशन का फैसला लिया गया और इसकी पूरी जिम्मेवारी राजस्व और भूमि सुधार विभाग को सौंपी गई. विभाग द्वारा बिहार के सभी 38 जिलों के गजेटियर के प्रकाशन की रूपरेखा तय कर ली गई है. बारी-बारी से सभी जिलों के गजेटियर प्रकाशित किए जाने हैं. इसके लिए बिहार सरकार ने अलग से बजट में राशि का आवंटन कर दिया है. सारण जिले का अपना गजेटियर लगभग 60 साल बाद प्रकाशित हुआ है. इसके पहले 1960 में सारण जिले का गजेटियर प्रकाशित हुआ था. इसके बाद पटना जिले के गजेटियर के प्रकाशन की बारी है. केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने देश भर के गजेटियर के प्रकाशन में एकरूपता लाने के लिए मानक तय कर दिए हैं.

क्या है गजट

गजेट मे किसी भी क्षेत्र का विवरण उपलब्ध रहता है. गजेट जिले और राज्यों के बारे में सरकारी दस्तावेज होते हैं, जो कि सबसे प्रामाणिक माने जाते हैं. इसमें न केवल  जिलों का इतिहास होता है बल्कि उस जिले के बारे में एक एक तथ्यों की जानकारी होती है.

ये भी पढ़ेंः बिहार में लड़खड़ाते Start Up एंजेल इंवेस्टर्स का कर रहे इंतजार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 8, 2020, 12:00 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर