भूपेंद्र यादव ने बिहार में NDA को दिलाई थी जीत, अब शाह ने सौंपी महाराष्ट्र की कमान

कठिन से कठिन काम को सरलता से निभाने वाले भूपेंद्र यादव (Bhupender Yadav) का नाम बीजेपी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर भी देखा जा रहा था. लेकिन अब राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने उन्हें महाराष्ट्र में होने वाले चुनाव का प्रभार सौंपा है.

News18 Bihar
Updated: September 9, 2019, 4:45 PM IST
भूपेंद्र यादव ने बिहार में NDA को दिलाई थी जीत, अब शाह ने सौंपी महाराष्ट्र की कमान
2019 में बतौर बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव के नेतृत्व में बिहार में एनडीए ने प्रचंड जीत हासिल करते हुए 40 में से 39 सीटों जीत दर्ज की.
News18 Bihar
Updated: September 9, 2019, 4:45 PM IST
पटना. पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता अरुण जेटली (Arun Jaitley) सालों तक पार्टी के लिए 'संकट मोचक' बने रहे. ये शायद ही संभव है कि दिवंगत जेटली का स्थान कोई ले सकता है. लेकिन उनके निधन के बाद 'संकट मोचक' के तौर पर बीजेपी (BJP) का कौन नेता कारगर हो सकता है. अगर इस संदर्भ में बात की जाए तो बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री भूपेंद्र यादव (Bhupender Yadav) को इस स्थान पर देखा जा सकता है.

अमित शाह ने सौंपी है महाराष्ट्र की कमान
दरअसल 50 वर्षीय भूपेंद्र यादव, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के काफी विश्वासपात्र माने जाते हैं. कठिन से कठिन काम को सरलता से निभाने वाले भूपेंद्र यादव का नाम बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर भी देखा जा रहा था. लेकिन अब राष्ट्रीय अध्यक्ष ने उन्हें महाराष्ट्र में होने वाले चुनाव का प्रभार सौंपा है.

मनवा चुके हैं अपनी संगठन क्षमता का लोहा

बिहार बीजेपी प्रभारी के तौर पर भी भूपेंद्र यादव ने केंद्र और राज्य के बीच सामजंस्य बिठा कर रखा है. दरअसल भूपेंद्र यादव कई राज्यों में बीजेपी के लिए 'संकट मोचक' का काम कर अपने संगठनात्मक क्षमता को पहले ही साबित कर चुके हैं. 2013 में राजस्थान, 2014 में झारखंड, 2017 में गुजरात और उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान वार रूम संभालते हुए पर्दे के पीछे रहकर उन्होंने काम किया और जीत के तौर पर नतीजा सबके सामने आया. अब बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने भूपेंद्र यादव को महाराष्ट्र की कमान सौंपी है.

जेडीयू का भी कहना है कि जेटली की जगह को शायद ही भरा जा सकता है. नीतीश कुमार से जेटली के रिश्ते को सभी जानते है. हालांकि जेडीयू का यह भी कहना है कि बीजेपी में ग्लैक्सी ऑफ लीडर्स है. अब बीजेपी किसे 'संकटमोचक' के तौर पर तैयार करेगी, यह बीजेपी को तय करना है.

अमित शाह के विश्वासपात्र माने जाते हैं भूपेंद्र यादव
Loading...

भूपेंद्र यादव को अमित शाह का सबसे विश्वासपात्र माना जाता है. हाल ही में राज्यसभा से बिल पास कराने के लिए विरोधी दल के सांसदों का सर्मथन हासिल करने के लिए जो टीम अमित शाह ने बनाई थी, उसमें भूपेंद्र यादव की भूमिका अहम थी. 2019 में बतौर बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव के नेतृत्व में बिहार में एनडीए ने प्रचंड जीत हासिल करते हुए 40 में से 39 सीटों जीत दर्ज की. अब शाह ने भूपेंद्र यादव को महाराष्ट्र की कमान सौंपी है.

बहरहाल, महाराष्ट्र में शिवसेना भी बिहार के तर्ज पर आधी-आधी सीट का फार्मूला चाहती है. ऐसे में अब वहां भूपेंद्र यादव क्या करते हैं, यह देखना भी दिलचस्प होगा.

ये भी पढ़ें-

'MLA अनंत सिंह के करीबी को गोली मारने के बाद अपराधी को मिली थी पुलिस सुरक्षा'

बिना हेलमेट घूम रहे दारोगा को युवक ने धमकाया फिर SP ने किया सस्‍पेंड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 8, 2019, 7:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...