अपना शहर चुनें

States

आरएलएसपी ने किया लोकसभा चुनाव में हार के कारणों पर मंथन

उपेंद्र कुशवाहा
उपेंद्र कुशवाहा

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) के अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने शनिवार को पटना स्थित पार्टी कार्यालय में चुनाव के नतीजों पर विचार-विमर्श और चिंतन किया.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) के अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने शनिवार को पटना स्थित पार्टी कार्यालय में चुनाव के नतीजों पर विचार-विमर्श और चिंतन किया. इस बैठक में आरएसएसपी के पदाधिकारियों ने हिस्सा लिया.

मौके पर उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि पार्टी नए सिरे से 2020 में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी है.

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव से पहले उपेंद्र कुशवाहा की अगुवाई वाली पार्टी ने एनडीए छोड़ महागठबंधन के साथ बंधन जोड़ लिया था. आरएलएसपी ने पांच सीटों पर चुनाव लड़ा था जिसमें से दो सीटों पर खुद उपेंद्र कुशवाहा ने चुनाव लड़ा था लेकिन मोदी लहर और राष्ट्रवाद की आंधी में महागठबंधन ताश के पत्ते की तरह बिखर गया. यहां तक कि आरएलएसपी का खाता नहीं खुला. बिहार की 40 में से 39 सीटों पर एनडीए का कब्जा हुआ है और एक मात्र सीट कांग्रेस के खाते में गई.



वहीं, काराकाट और उजियारपुर से चुनाव लड़ रहे कुशवाहा को दोनों सीटों पर हार का सामना करना पड़ा. काराकाट में उन्हें जेडीयू के महाबली सिंह ने 84542 वोटों से हरा दिया. वहीं, उजियारपुर से बीजेपी उम्मीदवार नित्यानंद राय ने कुशवाहा को 277278 वोटों के अंतर से मात दे दी.
ये भी पढ़ें-

पुलिस की गिरफ्त में आया साइको किलर, CCTV फुटेज से मिला हत्यारे का सुराग

शत्रुघ्न सिन्हा के जिन्ना वाले बयान पर नित्यानंद राय का तंज, कहा- संगत का प्रभाव

काराकाट से भगोड़ा की तरह उजियारपुर आना चाहते हैं उपेंद्र कुशवाहा: नित्यानंद राय

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज