लाइव टीवी

सफाई कर्मियों की हड़ताल का पांचवा दिन, पटना की सड़कों का हाल-बेहाल

News18Hindi
Updated: February 6, 2020, 5:37 PM IST
सफाई कर्मियों की हड़ताल का पांचवा दिन, पटना की सड़कों का हाल-बेहाल
राजधानी की सड़कों पर कूड़े का अम्बार लगा है, हजारों टन कचरा शहर के अलग अलग इलाकों में बिखरा परा है. कई जगह मरे हुए जानवर पड़े हैं, उनकी दुरगंध ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है.

नगर निगम में 43 सौ कर्मचारी है जिसके कंधे पर साफ सफाई का जिम्मा है. इन सभी कर्मचारियों के एक साथ हड़ताल पर जाने के बाद सफाई व्यवस्‍थाएं चरमरा गई हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 6, 2020, 5:37 PM IST
  • Share this:
पटना. नगर निगम सफाई कमर्चारियों की हड़ताल का गुरुवार को पांचवा दिन था. ऐसे में अब पटना की हालत नारकीय होती जा रही है. राजधानी की सड़कों पर कूड़े का अम्बार लगा है, हजारों टन कचरा शहर के अलग अलग इलाकों में बिखरा परा है. कई जगह मरे हुए जानवर पड़े हैं, उनकी दुरगंध ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है. साथ ही संक्रमण का खतरा भी लगातार बना हुआ है.

प्रशासन बना मूकदर्शक 
नगर निगम में 43 सौ कर्मचारी है जिसके कंधे पर साफ सफाई का जिम्मा है. इन सभी कर्मचारियों के एक साथ हड़ताल पर जाने के बाद सफाई व्यवस्‍थाएं चरमरा गई हैं. जिला प्रशासन के पास इससे निपटने का कोई वैकल्पिक प्लान नहीं होने के कारण पूरा महकमा मूकदर्शक बना नजर आ रहा है.

क्या है मामला

दरअसल सरकार ने एक नोटिस जारी कर कहा था कि नगर निगम में चतुर्थ वर्गीय पदों पर तैनात दैनिक कर्मचारियों से अब निगम काम नहीं लेगा, इसकी जगह आउटसोर्सिंग के जरिए काम कराया जाएगा. इसके बाद सरकार के फैसले को इन कर्मचारियों ने चुनौती दी और हड़ताल पर चले गए.

नगर विकास मंत्री के घर के बाहर फेंका मरा जानवर
प्रशासन की सख्ती के बाद भी सफाई कर्मियों का गुस्सा अपने चरम पर है. सफाई कर्मीयों ने सुबे के नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा के आवास को भी नहीं छोड़ा, उन्होंने मंत्री आवास के बाहर मरा हुआ जानवर फेंक दिया.ये भी पढ़ेंः नगर निगम के 4300 कर्मचारियों की हड़ताल से लोगों पर मंडराया बीमारी का 'खतरा'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 5:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर