लाइव टीवी

मांझी-नीतीश मुलाकात से बढ़ी सियासी सरगर्मी! JDU बोली- कई और राजनीतिक धमाके होंगे
Patna News in Hindi

News18 Bihar
Updated: March 18, 2020, 12:48 PM IST
मांझी-नीतीश मुलाकात से बढ़ी सियासी सरगर्मी! JDU बोली- कई और राजनीतिक धमाके होंगे
तेजस्वी के नाम पर महागठबंधन में फूट, नाराज कुशवाहा के बाद नीतीश से मिले मांझी(फाइल फोटो)

जेडीयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने न्यूज़ 18 से बात करते हुए कहा कि दो बड़े नेता हैं, उनके बीच मुलाकात हुई तो कई बातें हुई होंगी. मैं तो बंद कमरे में था नहीं, लेकिन राजनीति संभावनाओं का खेल है, कब क्या हो जाए कौन जानता है? आगे-आगे देखिए कई और राजनीतिक धमाके होंगे

  • Share this:
पटना. मंगलवार को महागठबंधन के घटक दल हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (HAM) के मुखिया और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) से मुलाकात की. काफी देर तक चली इस मुलाकात के राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं. माना जा रहा है कि मांझीआरजेडी (RJD) द्वारा उनकी उपेक्षा किए जाने की प्रतिक्रिया में नई राजनीतिक संभावनाओं को तलाश रहे हैं. महागठबंधन (Grand Alliance) में इस टकराव के बीच मांझी-नीतीश मुलाकात पर जेडीयू (JDU) ने कहा कि राजनीतिक संभावनाओं का खेल है.

'राजनीति संभावनाओं का खेल' 
जेडीयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने न्यूज़ 18 से बात करते हुए कहा कि दो बड़े नेता हैं, मुलाकात हुई तो कई बातें हुई होंगी. मैं तो बंद कमरे में था नहीं, लेकिन राजनीतिक संभावनाओं का खेल है, कब क्या हो जाए कौन जानता है? आगे-आगे देखिए कई और राजनीतिक धमाके होंगे.

वहीं, जेडीयू के ही सांसद सुनील कुमार पिंटू ने कहा कि राजनीति में कब क्या होगा कह नहीं सकते. मांझी जी को नीतीश जी ने मुख्यमंत्री तक बनाया. अगर वो आते हैं वापस तो हम स्वागत करेंगे, लेकिन इस बारे में शीर्ष नेता ही निर्णय लेंगे.



'बीजेपी समुद्र है और सबका स्वागत है'


इस बीच बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कहा है कि मांझी, मुकेश सहनी, उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी के एनडीए में शामिल होने की संभावना नहीं है. उनके साथ गठबंधन का सवाल नहीं जिन्हें बिहार की जनता पहले ही अस्वीकार कर चुकी है. हालांकि संजय जायसवाल ने ये भी कहा कि बीजेपी एक समुद्र है जिसमें कई छोटी-छोटी नदियां आकर मिलती हैं. बीजेपी में शामिल होने के सिद्धांत को मानते हुए अगर ये लोग पार्टी में शामिल होना चाहें तो उनका स्वागत है.

आरजेडी के स्वर पड़े नर्म पर तेवर टाइट
एक ओर मांझी और सीएम नीतीश कुमार की मुलाकात से जहां बिहार में सियासी सरगर्मी बढ़ गई है वहीं महागठबंधन के छोटे दलों को आरजेडी अधिक भाव देने के मूड में नहीं है. हालांकि पहले की तुलना में उसके स्वर थोड़े नर्म जरूर पड़े हैं. आरजेडी के नेता भाई वीरेंद्र ने कहा कि मांझी जी और नीतीश जी की मुलाकात दो नेताओं की मुलाकात थी. मांझी जी महागठबंधन के बड़े नेता हैं और रहेंगे. मांझी जी कहीं नही जाएंगे.

कांग्रेस ने साध ली चुप्पी
हालांकि मांझी-नीतीश मुलाकात पर कांग्रेस ने चुप्पी साध रखी है. पार्टी के एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि नीतीश जी और मांझी जी में मुलाकात के बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं. कौन आता है और कौन जाता है इस पर मुझे कुछ नहीं कहना, लेकिन बिहार की जनता हमारे साथ है, ये सबको पता है.

बहरहाल एक ओर जीतन राम मांझी और नीतीश कुमार की मुलाकात से जहां बिहार में सियासी सरगर्मी बढ़ गई है वहीं, मांझी पर आरजेडी के स्वर जरूर नर्म हैं पर वो छोटे दलों को अधिक भाव देने के मूड में नहीं है. आरजेडी ने पहले ही कह रखा है कि सही प्लेटफार्म पर बातचीत की जा सकती है. नेता के सवाल पर बहस की गुंजाइश नहीं है.

ये भी पढ़ें-

पीएम मोदी मिला मिथिला क्षेत्र के सांसदों का शिष्टमंडल, की ये 'खास' मांग

महागठबंधन में रार! मांझी के बाद RLSP बोली-अहंकार छोड़े RJD

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 18, 2020, 11:51 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading