लाइव टीवी

कन्हैया कुमार के काफिले पर फिर हुआ पथराव, BJP पर लगाया हमले का आरोप
Patna News in Hindi

भाषा
Updated: February 6, 2020, 11:21 PM IST
कन्हैया कुमार के काफिले पर फिर हुआ पथराव, BJP पर लगाया हमले का आरोप
कन्हैया कुमार के काफिले पर फिर हुआ हमला

सत्य नारायण सिंह ने कहा, ‘ये हमले आरएसएस (RSS) और भाजपा (BJP) समर्थित लोगों द्वारा करवाए जा रहे हैं ...'

  • Share this:
पटना. भाकपा नेता और जेएनयू (JNU) छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार  के काफिले पर मधेपुरा जिला के पास अज्ञात उपद्रवियों द्वारा फिर पथराव किया गया पर इसमें किसी के घायल होने की खबर नहीं है. बीते 24 घंटों में कन्हैया के साथ दूसरी बार इस तरह की घटना हुई है.

भाकपा के राज्य सचिव सत्य नारायण सिंह ने पटना में एक बयान जारी कर इस घटना की कड़ी निंदा की और हमलावरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की. सिंह ने कहा कि बुधवार सुपौल में एक ऐसा ही हमला हुआ, जिसमें वाहन क्षतिग्रस्त हुआ और कई लोग घायल हो गए थे.

हमले के पीछे BJP का बताया हाथ
सत्य नारायण सिंह ने कहा, ‘ये हमले आरएसएस और भाजपा समर्थित लोगों द्वारा करवाए जा रहे हैं ... अगर सरकार तत्काल कोई कदम नहीं उठाती है तो हम आंदोलन करने को मजबूर होंगे.’ सीएए—एनपीआर—एनआरसी के विरोध में राज्यव्यापी यात्रा कर रहे कन्हैया के काफिले पर एक फरवरी को सारण जिले में भी हमला किया गया था. कन्हैया की राज्यव्यापी यह यात्रा 29 फरवरी को पटना में संपन्न होगी.

बता दें कि बुधवार को ही जेएनयू के पूर्व छात्र संघ नेता कन्हैया कुमार के काफिले पर कुछ लोगों ने पत्थरों से हमला कर दिया था. इस हमले में गाड़ी के ड्राइवर का सिर फट गया था, जबकि कन्हैया कुमार भी घायल हो गए थे. दोनों को निकट के अस्पताल में प्राथमिक इलाज के लिए ले जाया गया था.

युवक के साथ मारपीट का भी लगा था आरोप
वहीं सुपौल में ही एक युवक ने कन्‍हैया कुमार पर मारपीट का आरोप लगाया था. इस घटना के बाद कन्हैया कुमार ने ट्वीट कर कहा, इस हमले में हमारे एक ड्राइवर साथी को गंभीर चोट आई है और कई वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं. बाकी हम सभी साथी सुरक्षित हैं. कल (गुरुवार) सहरसा और मधेपुरा में सभाओं का आयोजन होगा. 'हम भारत के लोग' इनके ईंट-पत्थरों का जवाब 'आजाद देश में आजादी' के बुलंद नारों से देंगे.एक फरवरी को सारण में हुआ था कन्हैया के काफिले पर हमला
बता दें, कन्हैया इन दिनों संशोधित नागरिकता कानून (सीएए), राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के विरोध में राज्यव्यापी यात्रा पर हैं. इससे पहले एक फरवरी को सारण जिले में कन्हैया के काफिले पर हमला हुआ था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 11:21 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर