Agiaon Assembly Constituency : भोजपुर की एकमात्र सुरक्षित सीट को प्रशासन मानता है असुरक्षित

अगिआंव सीट प्रशासन की निगाह में अशांत सीट के तौर पर जानी जाती है.
अगिआंव सीट प्रशासन की निगाह में अशांत सीट के तौर पर जानी जाती है.

वैसे यह सीट प्रशासन की निगाह में अशांत सीट के तौर पर जानी जाती है. याद दिला दें कि सोन के तट का यह इलाका माले और रणवीर सेना के बीच संघर्ष को लेकर भी चर्चा में रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2020, 2:24 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अगिआंव विधानसभा क्षेत्र (Agiaon Assembly Constituency) भोजपुर (Bhojpur) में आने वाले सात विधानसभा क्षेत्रों में एकमात्र सुरक्षित सीट है. यहां कुल वोटरों की संख्या 2,57,315 बताई जाती है. पहले यह लंबे समय तक सहार क्षेत्र के रूप में जाना जाता रहा. 2008 के परिसीमन के बाद यह अगिआंव क्षेत्र के रूप में अस्तित्व में आया. यहां नक्सली आंदोलनों को भी खाद-पानी मिलता रहा है. रणवीर सेना की भी यहां मजबूत मौजूदगी रही है. शुरुआती चुनावों में कांग्रेस का दौर रहा. 1977 की परिवर्तन की लहर में नवगठित जनता पार्टी ने सहार क्षेत्र में सबको पटखनी दी थी. हालांकि इससे पहले 1969 में भी यहां कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा था. नक्सली आंदोलन की बदौलत 1995 में यहां माले ने पहली बार परचम लहराया था. 2010 में एनडीए की लहर में यहां भाजपा का खाता खुला. पिछले चुनाव में राजद के सहारे जदयू ने यहां परचम लहराया.

नक्सलग्रस्त इस सीट पर सबकी निगाह

2015 के विधानसभा चुनाव के दौरान यहां कुल 7 उम्मीदवार मैदान में थे. इनमें महागठबंधन की ओर से जदयू के प्रभुनाथ प्रसाद को 52,276 को वोट मिले थे. एनडीए की ओर से भाजपा के शिवेश कुमार को 37,572 को मत मिले. भाकपा माले के मनोज कुमार मंजिल 31,789 मत पाकर तीसरे स्थान पर रहे थे. अन्य उम्मीदवार मुकाबले में भी नहीं रहे. वैसे यह सीट प्रशासन की निगाह में अशांत सीट के तौर पर जानी जाती है. याद दिला दें कि सोन के तट का यह इलाका माले और रणवीर सेना के बीच संघर्ष को लेकर भी चर्चा में रहा है. नक्सलग्रस्त इस सीट को लेकर चुनाव आयोग और प्रशासन की खास नजर है, क्योंकि बूथों पर टकराव का पुराना इतिहास रहा है.



अगिआंव विधानसभा क्षेत्र
2015 : प्रभुनाथ प्रसाद (जदयू) 52,276                शिवेश कुमार (भाजपा) 37,572

2010 : शिवेश कुमार (भाजपा)

2005 : शिवेश कुमार (भाजपा)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज