RJD के 9Sept9PM9Minute मिशन को अखिलेश यादव का समर्थन, बोले-आइए उनकी आवाज में आवाज मिलाएं
Patna News in Hindi

RJD के 9Sept9PM9Minute मिशन को अखिलेश यादव का समर्थन, बोले-आइए उनकी आवाज में आवाज मिलाएं
तेजस्वी यादव और अखिलेश यादव (फाइल तस्वीर)

बिहार के नेता प्रतिपक्ष (Tejaswi yadav) की इस मुहिम में अब उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी (SP) के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) ने समर्थन किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 9, 2020, 11:26 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections ) की तारीखों के ऐलान का इंतजार खत्म ही होने वाला. इसके बीच  सभी सियासी दल अपनी रणनीतियों पर आगे बढ़ रहे हैं. इसी क्रम में विपक्ष में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejaswi yadav) ने अपील की है कि बेरोजगारी और सरकारी संस्थाओं के निजीकरण के खिलाफ राज्यवासी बुधवार यानी 9 सितम्बर को 9 बजे रात में 9 मिनट तक के लिए घर का लाइट ऑफ कर एक दीया, लालटेन या मोमबत्ती जलाएं. तेजस्वी ने एक दिन पहले मंगलवार को रात में इसको लेकर ट्विटर पर मैसेज दिया और फेसबुक लाइव (Facebook live) भी किया और लोगों से इस अभियान में जड़ने का आह्वान किया. तेजस्वी ने अपने आह्वान में कहा कि यह राजद (RJD) का आंदोलन नहीं है. बेरोजगार युवक और कुछ स्वयंसेवी संस्थाओं ने यह आंदोलन शुरू किया है. राजद उसका भरपूर समर्थन करता है. साथ ही बेराजगारों के हाथ में हाथ मिलाकर नौ मिनट के लिए तय समय पर मोमबत्ती या लालटेन जलाने की अपील करता है. वह खुद अपनी मां राबड़ी देवी के साथ तय समय पर अपनी छत पर लालटेन लेकर खड़ा रहेंगे.

बिहार के नेता प्रतिपक्ष की इस मुहिम में अब उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी (SP)  के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) ने समर्थन किया है. अखिलेश ने ट्वीट में लिखा, आइए युवाओं व उनके परिवार की बेरोज़गारी-बेकारी के इस अंधेरे में हम आज रात 9 बजे, 9 मिनट के लिए बत्तियां बुझाकर क्रांति की मशाल जलाएं, उनकी आवाज़ में आवाज़ मिलाएं.

मुट्ठियां जब बंध जाती हैं नौजवानों की नींद उड़ जाती है ‘ज़ुल्मी हुक्मरानों’ की आइए युवाओं व उनके परिवार की बेरोज़गारी-बेकारी के इस अंधेरे में हम आज रात 9 बजे, 9 मिनट के लिए बत्तियां बुझाकर क्रांति की मशाल जलाएं, उनकी आवाज़ में आवाज़ मिलाएं!





गौरतलब है कि तेजस्वी यादव लगातार केंद्र की मोदी सरकार और बिहार की नीतीश सरकार को लगातार बेरोजगारी के मुद्दे पर घेरते रहे हैं. इसी क्रम में उन्होंने आरोप लगाया कि बहुत से व्यवसाइयों और छोटे व्यापार करने वालों का धंधा-रोजगार बंद हो गया है. सरकार की ओर से भर्ती बंद कर दी गई है. कई साल से परीक्षा नहीं ली जा रही. नौकरियों और आवेदन फॉर्म की फीस के नाम पर सरकार ने अरबों रुपये वसूल कर पूंजीपतियों में बांट दिए.

तेजस्वी ने कहा कि बिहार में गरीबी दर 52 प्रतिशत है. प्रदेश का हर दूसरा परिवार पलायन को मजबूर है. लोगों को शिक्षा और रोजगार के लिए पलायन करना पड़ रहा है. यहां जो भर्ती परीक्षा होती भी है, उसका पेपर लीक हो जाते हैं.

उन्होंने कहा कि अगर राजद को मौका मिला तो किसी भी जाति धर्म का कोई काबिल युवक बेरोजगार नहीं रहेगा. इसके लिए विशेषज्ञों की टीम रोडमैप बना रही है और जल्द ही हम रोडमैप के साथ युवकों के सामने आयेंगे. गौरतलब है कि आरजेडी ने बेराजगार युवकों के निबंधन के लिए वेबसाइट और टोलफ्री नम्बर जारी कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज