होम /न्यूज /बिहार /जेपी की जयंती पर सियासत, अमित शाह के बिहार दौरे को लेकर BJP-JDU आमने-सामने

जेपी की जयंती पर सियासत, अमित शाह के बिहार दौरे को लेकर BJP-JDU आमने-सामने

बिहार के पूर्णिया में जनभावना रैली को संबोधित करते हुए गृह मंत्री अमित शाह. (File Photo)

बिहार के पूर्णिया में जनभावना रैली को संबोधित करते हुए गृह मंत्री अमित शाह. (File Photo)

Bihar Politics: अमित शाह महज 17 दिनों में दूसरी बार बिहार आ रहे हैं. वो सिताब दियारा में जेपी की जयंती के अवसर पर आयोजि ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

अमित शाह 17 दिनों में दूसरी बार बिहार आ रहे हैं
अमित शाह सिताब दियारा में जेपी की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होंगे
उनके बिहार दौरे को लेकर फिर से राजनीति गर्मा गई है

पटना. बिहार में जदयू के एनडीए से अलग होने के बाद अमित शाह का मिशन बिहार शुरू हो चुका है . महज 17 दिनों में अमित शाह बिहार में दूसरी सभा करने जा रहे हैं. अमित शाह का दौरा और जेपी जयंती पर बिहार में सियासत तेज हो गई है. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बिहार दौरे को लेकर जदयू और भाजपा आमने-सामने है.अमित शाह के दौरे पर जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने कहा कि किसी को कहीं आने में रोक नहीं है लेकिन लोकनायक जयप्रकाश नारायण के गांव सिताब दियारा में जो भी काम हुआ है वो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार में हुआ है.

ललन सिंह ने कहा कि सिताब दियारा में गंगा के कटाव का पूरा काम हुआ है. सिताब दियारा की भौगोलिक स्थिति ऐसी है कि उसका कुछ विभाग उत्तर प्रदेश में पड़ता है. गृह मंत्री वह भी देखें कि बिहार सरकार ने सिताब दियारा में क्या काम किया और उत्तर प्रदेश की सरकार ने क्या काम किया है .

अमित शाह के सारण दौरे को लेकर जदयू के लोग भले ही नीतीश कुमार के विकास कार्यों पर अमित शाह देखने की नसीहत दे रहे हैं लेकिन इस मामले में बीजेपी ने जदयू पर जोरदार पलटवार किया है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद रविशंकर प्रसाद ने कहा कि अमित शाह के बिहार आने से जदयू को परेशानी क्यों हो रही है. क्या बिहार में आने के लिए अमित शाह को नीतीश कुमार का वीजा और पासपोर्ट चाहिए. अमित शाह बिहार ही नहीं बल्कि पूरे देश में कहीं आ जा सकते हैं. अमित शाह 11 अक्टूबर को जयप्रकाश नारायण की जयंती में शामिल होने सिताब दियारा आ रहे हैं. भारत सरकार के संस्कृति विभाग के द्वारा देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों की स्मृति में आयोजन किया जा रहा है.

उसी कड़ी में अमित शाह सिताब दियारा आ रहे हैं. रविशंकर ने कहा कि हम सभी लोकनायक के शिष्य हैं. लोकनायक जयप्रकाश नारायण की स्मृतियों को हमें राजनीति से अलग रखना चाहिए. यदि अमित शाह आ रहे हैं तो उससे और अच्छा ही होगा. यदि वहां कोई जरूरत होगी तो उसे पूरा किया जाएगा.

Tags: Amit shah, Bihar News, Bihar politics

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें