अनंत सिंह के सरेंडर पर खुद को 'शाबासी' दे रही नीतीश सरकार, विपक्ष ने कहा- पुलिस की साख पर सवाल

अनंत सिंह के सरेंडर मामले पर राजद ने पुलिस और सरकार की साख पर सवाल उठाते हुए कहा कि उनके सरेंडर से बिहार पुलिस की भद पिट गई है.

News18 Bihar
Updated: August 23, 2019, 4:01 PM IST
अनंत सिंह के सरेंडर पर खुद को 'शाबासी' दे रही नीतीश सरकार, विपक्ष ने कहा- पुलिस की साख पर सवाल
फरार चल रहे अनंत सिंह को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाई लेकिन नीतीश सरकार उसके सरेंडर पर भी खुद की पीठ थपथपा रही है.
News18 Bihar
Updated: August 23, 2019, 4:01 PM IST
बीते 16 अगस्त को घर से एके-47 राइफल और बम मिलने के बाद फरार चल रहे बिहार के मोकामा से बाहुबली विधायक अनंत सिंह (Anant Singh) ने शुक्रवार को सरेंडर (Surrender)  कर दिया. तमाम पुलिसिया बंदोबस्त और सरकारी दावों को धता बताते हुए पहले तो वे बिहार की सीमा से निकलने में कामयाब रहे फिर दिल्ली के साकेत कोर्ट (Saket Court) में सरेंडर कर दिया. अब इस मुद्दे को लेकर बिहार की सियासत गरमा गई है. सबसे खास ये है कि जेडीयू और बीजेपी इस सरेंडर को भी अपनी कामयाबी करार दे रही है, वहीं विपक्ष ने इसे शासन व्यवस्था की नकामी करार दिया है.

आरजेडी ने पुलिस की नाकामी पर उठाए सवाल
राजद ने पुलिस और सरकार की साख पर सवाल उठाते हुए कहा कि अनंत सिंह के सरेंडर से बिहार पुलिस की भद पिट गई है. आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंज तिवारी ने कहा कि इस मामले में सरकार और पुलिस के सभी दावे फेल हो गए और अनंत सिंह ने अपने दावे के मुताबिक सरेंडर ही किया और बिहार पुलिस हाथ मलती रह गई.  उन्होंने कहा कि बिहार में प्रशासन नाम की चीज नहीं है.  हालांकि आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने इस मसले पर सिर्फ इतना भर कहा कि मामला कोर्ट से जुड़ा है इसपर बोलना अभी ठीक नहीं है.

अनंत सिंह के घर मिली AK-47, RJD नेता बोले-'हथियार मिलने से आतंकवादी नहीं होता'
घर से AK-47, ग्रेनेड और कारतूस बरामदगी के बाद से फरार चल रहे थे बाहुबली अनंत सिंह.


सरेंडर को भी उपलब्धि मान रही है नीतीश सरकार
हालांकि सत्ताधारी जेडीयू को लगता है कि सात दिनों तक खाक छानने के बाद भी पुलिस की गिरफ्त से बच निकले अनंत सिंह का सरेंडर भी सरकार की उपलब्धि है. पार्टी के प्रवक्ता  राजीव रंजन ने कहा कि बिहार पुलिस के दबाब के कारण ही सरेंडर हुआ है. उन्होंने दावा किया कि इस मामले में भी पुलिस ने बेहतर काम किया है और पुलिस के दबाव के कारण ही अनंत सिंह मजबूर हुए. उन्होंने कहा कि पिछले 15 सालों में सरकार के कामों को लोगो ने देखा है.

बीजेपी ने भी सरेंडर को दबिश का नतीजा बताया
Loading...

वहीं, बीजेपी भी अपने साथी दल के सुर में सुर मिलाते हुए कह रही है कि पुलिस की दबिश का नतीजा है सरेंडर.पार्टी के प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने कहा कि अनंत सिंह को लग गया था कि अब बचना मुश्किल है.  कोई चारा नहीं रहने पर अनंत सिंह ने सरेंडर किया.

अनंत सिंह की गिरफ्तारी
मोकामा विधायक अनंत सिंह की फाइल फोटो


बिहार पुलिस के तमाम दावों के बावजूद अनंत सिंह गिरफ्तार नहीं किए जा सके. 16 अगस्त के बाद से लगातार पुलिस को गच्चा देते रहे. इस बीच वीडियो शेयर  किया और बार-बार यही कहा कि 'गिरफ्तारी  तो नहीं देंगे, सरेंडर करेंगे.

बीते 7 दिनों में उन्होंने 3 वीडियो जारी किए और हर बार यही बात दोहराई कि कोर्ट पर तो उन्हें पूरा भरोसा है, लेकिन पुलिस पर नहीं. इसलिए वह सरेंडर ही करेंगे. गिरफ्तार नहीं होने देने और कोर्ट में ही सरेंडर के अपने दावे के अनुसार शुक्रवार को उन्होंने दिल्ली के साकेत कोर्ट में सरेंडर कर दिया.

इनपुट- रवि एस नारायण

ये भी पढ़ें-


दिल्ली पुलिस के प्रोटेक्शन में बाढ़ कोर्ट में पेश होंगे अनंत सिंह, ट्रांजिट रिमांड पर ले सकती है बिहार पुलिस




7 दिन और 160 घंटे खाक छानती रही बिहार पुलिस, अनंत सिंह ने वही किया जो कहा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 23, 2019, 3:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...