पांच RJD MLC के JDU में विलय को मिली स्वीकृति, खतरे में पड़ी राबड़ी की कुर्सी!
Patna News in Hindi

पांच RJD MLC के JDU में विलय को मिली स्वीकृति, खतरे में पड़ी राबड़ी की कुर्सी!
आरजेडी के 5 एमएलसी के जेडीयू में शामिल होने के बाद विधान परिषद में राबड़ी देवी की नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी खतरे में पड़ गई है.

विधानपरिषद सभापति अवधेश नारायण सिंह (Awadhesh Narayan Singh) ने भी संकेत देते हुए कहा कि नेता प्रतिपक्ष के लिए सदन में दस प्रतिशत सदस्य की संख्या जरूरी होती है.

  • Share this:
पटना. राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के 5 विधान पार्षदों ने राजद का साथ छोड़ जेडीयू (JDU) ज्वाइन कर ली है. राधा चरण सेठ, संजय प्रसाद, रणविजय सिंह, दिलीप राय और कमरे आलम के जेडीयू में विलय को विधानपरिषद सभापति अवधेश नारायण सिंह ने स्वीकृति भी दे दी है. सभापति ने बताया कि मंजूरी देने से पहले सभी एमएलसी से बात की गई और उनके सिग्नेचर का मिलान किया गया. इस बीच जो खबर आ रही है उसके अनुसार विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष राबड़ी देवी (Rabri Devi) की कुर्सी खतरे में पड़ती नजर आ रही है.

विधान परिषद सभापति ने कही ये बात
इसको लेकर विधानपरिषद सभापति अवधेश नारायण सिंह (Legislative Council Chairman Awadhesh Narayan Singh) ने भी संकेत देते हुए कहा कि नेता प्रतिपक्ष के लिए सदन में दस प्रतिशत सदस्य की संख्या जरूरी होती है. अब ये संख्या राजद के पास नहीं है. ऐसे में अब तो राजद के पास नेता प्रतिपक्ष का पद रहने का कोई सवाल नहीं है. आगे प्रक्रिया के तहत इसपर कार्रवाई की जाएगी. बता दें कि सभापति के इस बयान के बाद सीधे तौर पर विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी पर संकट दिख रहा है जो कि राजद से छिन सकता है. अभी नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी पर पूर्व मुख्यमंत्री व राजद की नेता राबड़ी देवी हैं.

ये है विधान परिषद में सीटों का समीकरण
बता दें कि बिहार विधान परिषद में कुल 75 सीटें है और विपक्ष के नेता के लिए 8 सीटें होनी चाहिए. पांच एमएलसी के जेडीयू में जाने के बाद आरजेडी के पास सिर्फ तीन सीटें रह गई हैं. ऐसे में राबड़ी देवी को विपक्ष के नेता की कुर्सी छोड़नी पड़ सकती है. बिहार विधान परिषद में अभी 29 सीटें खाली है. इसमें 12 मनोनयन कोटा, 9 विधानसभा, चार शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र और चार स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के हैं. वर्तमान में जदयू के 20, भाजपा के 16, राजद के तीन, लोजपा और हम के एक-एक, कांग्रेस के दो और निर्दलीय दो विधान परिषद सदस्य हैं.



MLC इस्तीफे पर आरजेडी में हलचल हुई तेज
इस बीच खबर है कि आरजेडी के 5 एमएलसी टूटने और पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफे के बाद आरजेडी के भीतर काफी हलचल है. इसी प्रकरण को लेकर राबड़ी आवास पर तेजस्वी यादव और बिहार आरजेडी अध्यक्ष जगदानंद सिंह के साथ कई विधायकों की मीटिंग हो रही है. बता दें कि मंगलवार को ही रघुवंश प्रसाद सिंह ने भी आरजेडी के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है.

चुनाव से पहले दलबदल का दौर हुआ शुरू
बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखें जल्दी ही घोषित होने की संभावना जताई जा रही है, ऐसे में बिहार में दलबदल का खेल तेज हो गया है. इसी क्रम में बीते दिनों आरजेडी ने जेडीयू (JDU) के कुछ नेताओं को अपनी पार्टी में ज्वाइन करवाया था. बता दें कि पार्षदों के राजद छोड़ने की बात ऐसे समय आई है जब विधानपरिषद का चुनाव बेहद नजदीक है. (इनपुट-अमित कुमार सिंह)

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज