बिहार में सियासी उलटफेर के आसार, ‘नीच’ पॉलिटिक्स पर कुशवाहा के समर्थन में उतरे सांसद अरुण कुमार
Patna News in Hindi

बिहार में सियासी उलटफेर के आसार, ‘नीच’ पॉलिटिक्स पर कुशवाहा के समर्थन में उतरे सांसद अरुण कुमार
अरुण कुमार का ताजा बयान उपेन्द्र कुशवाहा के सियासी ‘खीर’ बनने की प्रक्रिया का हिस्सा है. महागठबंधन में अगर कुशवाहा शामिल होंगे तो अरुण कुमार का चेहरा सवर्णों का होगा और कुशवाहा खुद को पिछड़ों का नेता बताएंगे.

अरुण कुमार का ताजा बयान उपेन्द्र कुशवाहा के सियासी ‘खीर’ बनने की प्रक्रिया का हिस्सा है. महागठबंधन में अगर कुशवाहा शामिल होंगे तो अरुण कुमार का चेहरा सवर्णों का होगा और कुशवाहा खुद को पिछड़ों का नेता बताएंगे.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 14, 2018, 11:56 AM IST
  • Share this:
एनडीए में रार के बीच बिहार में बड़े सियासी उलटफेर होने के आसार हैं. केन्द्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बीच ‘नीच’ राजनीति पर जहानाबाद से सांसद अरुण कुमार कुशवाहा के समर्थन में आ गए हैं. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने अपनी गलत मानसिकता का परिचय दिया है और किसी को ‘नीच’ कहना बिहारी अस्मिता को ठेस पहुंचाना है. उन्होंने डीप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के सीएम के समर्थन पर भी आपत्ति जताई है.

अरुण कुमार ने कहा कि नीतीश कुमार को इस बात के लिए माफी मांगनी चाहिए. सांसद ने कहा कि जब उपेन्द्र कुशवाहा उन्हें बड़ा भाई मानते हैं तो नीतीश कुमार को भी मर्यादा का ध्यान रखना चाहिए. उन्होंने कहा नीतीश कुमार जैसे कद्दावर नेता के लिए भी अगर कोई ऐसे शब्द का इस्तेमाल करेगा तो मैं उसका विरोध करुंगा. उन्होंने कहा कि सुशील मोदी को ढाल बनाकर नीतीश कुमार ने गलत किया है. सांसद ने सुशील मोदी को बाहरी बताते हुए कहा कि वे राजस्थान से बिहार कपड़ा बेचने आए थे.

ये भी पढ़ें- भोजपुरः पुलिस मुठभेड़ में मारा गया कुख्यात अपराधी मनीष सिंह



जहानाबाद के सांसद ने कहा कि उपेन्द्र कुशवाहा से उनका मनभेद नहीं है बल्कि मतभेद है. उन्होंने कहा कि अलग-अलग विचारों के कारण वे कुशवाहा से अलग हुए हैं.  उन्होंने कहा कि आने वाले समय में राजनीति किस करवट बैठेगी ये नहीं कहा जा सकता है. उन्होंने आरएलएसपी कार्यकर्ताओं पर हमले को भी अनुचित बताते हुए कहा कि यह अलोकतांत्रिक है.
ये भी पढ़ें - बेगूसराय: उधार में सामान नहीं दिया तो फोड़ डाली दुकानदार की आंख

आपको बता दें कि अरुण कुमार ने उपेन्द्र कुशवाहा से अलग होकर अलग पार्टी बना ली थी. माना जा रहा है कि अरुण कुमार का ताजा बयान उपेन्द्र कुशवाहा के सियासी ‘खीर’ बनने की प्रक्रिया का हिस्सा है. महागठबंधन में अगर कुशवाहा शामिल होंगे तो अरुण कुमार का चेहरा सवर्णों का होगा और कुशवाहा खुद को पिछड़ों का नेता बताएंगे.

(इनपुट- दिवाकर)

ये भी पढ़ें- कुशवाहा की उम्मीदों पर BJP ने फेरा पानी, 'नीच' पर सुशील मोदी CM नीतीश के साथ
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज