Bihar Assembly Election: चिराग के तेवर पर बोले नीतीश- 'इसमें कोई खास बात नहीं'

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि चिराग पासवान (Chirag Paswan) की लोजपा (LJP) 143 सीटों पर चुनाव लड़ने को तैयार है और वह खास तौर पर जेडीयू (JDU) की सीटों को टारगेट करेगी. इसी क्रम में ये खबर भी आई कि चिराग भी विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 24, 2020, 2:36 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार एनडीए के भीतर एलजेपी और जेडीयू (JDU and LJP) के बीच तनातनी जारी है. चिराग पासवान (Chirag Paswan) के तल्ख तेवर और लोजपा की 143 सीटों पर चुनाव लड़ने के दावे के बीच इस मामले में सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) का बयान सामने आया है. हालांकि उन्होंने खुलकर कुछ भी बोलने से परहेज किया और चिराग तेवर को लेकर मीडिया के सवालों पर बस इतना कहा कि इसमें कोई खास बात नहीं. जाहिर है सीएम नीतीश का ये बयान इसलिए अहम है क्योंकि दोनों ही पार्टियों के बीच तनातनी चरम पर है. दोनों ही ओर से बयानबाजियां जोरों पर हैं. ऐसे में सीएम नीतीश का ये कहना कि कोई खास बात नहीं, ये क्या संकेत देता है, इसको लेकर कयासबाजियों का दौर शुरू हो गया है.

बता दें कि हाल में ही ये खबर आई चिराग पासवान की लोजपा 143 सीटों पर चुनाव लड़ने को तैयार है और वह खास तौर पर जेडीयू की सीटों को टारगेट करेगी. इसी क्रम में ये खबर भी आई कि चिराग भी विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं. हालांकि इस मामले में लोजपा की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है, लेकिन चिराग के सीएम नीतीश को डायरेक्ट निशाना बनाए जाने को लेकर जेडीयू काफी नाराज है.

बुधवार को जेडीयू के सांसद नील कुमार पिंटू ने कहा कि चिराग पासवान विधानसभा के चुनाव में शून्य के स्कोर पर जब आउट होंगे तो उनको पता चलेगा. पिंटू ने कहा कि चिराग पासवान पहले लोकसभा से इस्तीफा दें उसके बाद विधानसभा का चुनाव लड़ें. जदयू सांसद यहीं नहीं रुके. उन्होंने आगे कहा कि चिराग पासवान को कोई गुमराह कर रहा है. वो अपने दिमाग से कम और किसी दूसरे के दिमाग से ज्यादा चल रहे हैं.

सुनील कुमार पिंटू ने आगे कहा कि चिराग पासवान ने अभी तक विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ा है, जबकि नीतीश कुमार 1985 में ही विधायक बने थे. जेडीयू सांसद ने कहा कि बिना मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के चेहरे के चुनाव लड़कर चिराग पासवान को देख लेना चाहिए. चिराग 143 सीटों पर चुनाव लड़कर परिणाम प्राप्त करने के भ्रम में हैं. 






जेडीयू सांसद सुनील कुमार पिंटू के इसी बयान पर अब चिराग पासवान की पार्टी लोजपा के प्रवक्ता अशरफ़ अंसारी ने पलटवार करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री की कृपा से बने लोग नसीहत ना दें. जनता पीट रही है उससे बचें. लोजपा की तरह जेडीयू भी अकेले लड़े चुनाव तो जदयू का सारा नशा उतर जाएगा.

बहरहाल सियासी गलियारों में सीएम नीतीश के ताजा बयान को इस संदर्भ में देखा जा रहा है कि चिराग पासवान अगर एनडीए में रहें या न रहें, जेडीयू को कोई फर्क नहीं पड़ता है. हालांकि दूसरी ओर राजनीतिक जानकार ये भी कहते हैं कि हो सकता है कि अंदरखाने में एनडीए के घटक दलों में बात बन गई हो और इसलिए सीएम नीतीश इस मुद्दे को अब खत्म मान रहे हों.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज