प्रेस कॉन्फ्रेंस में सोने के आरोप पर केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे बोले- मैं चिंतन कर रहा था

एईएस बीमारी की वजह से मुजफ्फरपुर समेत राज्य भर में अभी तक 125 बच्चों की मौत हो गई है. आरजेडी ने इस पर बुलाए गए प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे पर सोने का आरोप लगाया था.

News18 Bihar
Updated: June 17, 2019, 4:37 PM IST
प्रेस कॉन्फ्रेंस में सोने के आरोप पर केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे बोले- मैं चिंतन कर रहा था
सोने के आरोप पर केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि मैं चिंतन कर रहा था (File Photo)
News18 Bihar
Updated: June 17, 2019, 4:37 PM IST
बिहार में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (AES) यानी चमकी बुखार से होने वाले बच्चों की मौत का आंकड़ा 125 तक जा पहुंचा है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने रविवार को मुजफ्फरपुर का दौरा कर हालात का जायजा लिया. लेकिन इस दौरान एक ऐसी तस्वीर सामने आई, जिसने विपक्ष को सरकार को घेरने का एक और मौका दे दिया.

विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) ने ट्वीट कर केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सोने का आरोप लगाया. अब इस पर अश्विनी चौबे ने सफाई देते हुए कहा कि वो सो नहीं रहे थे बल्कि चिंतन-मनन कर रहे थे.

सोमवार को मीडिया से बात करते हुए स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने कहा कि प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मैं सो नहीं रहा था. मैं मनन-चिंतन भी करता हूं. मैं सो नहीं रहा था.


Loading...

आरजेडी ने लगाया था सोने का आरोप

बता दें, आरजेडी ने आरोप लगाया था कि 200 बच्चों की मौत के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री की प्रेस कॉन्फ्रेंस हो रही है. केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे उसी प्रेस कॉन्फ्रेंस में सो रहे हैं. बिहार सरकार के मंत्री भी जम्हाई ले रहे. जाने इनकी मानवीय संवेदना कहां मर गई? मुख्यमंत्री तो गहरी निद्रा में हैं.

डॉ. हर्षवर्धन और मंगल पांडेय के खिलाफ शिकायत दर्ज

बच्चों की एईएस की वजह से लगातार हो रही मौत मामले में मुजफ्फरपुर में सीजीएम कोर्ट में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई है. सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी की ओर से दाखिल इस शिकायत पर 24 जून को सुनवाई होगी.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
First published: June 17, 2019, 4:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...