बिहार चुनाव: भाजपा ने 3 और पूर्व विधायकों को पार्टी से निकाला, अब तक 12 नेता किए जा चुके हैं निष्कासित

भाजपा का झंडा (सांकेतिक तस्वीर)
भाजपा का झंडा (सांकेतिक तस्वीर)

Bihar Assembly Elections 2020: भाजपा (BJP) से 6 साल के लिए निष्कासित किए जाने के बावजूद ये सभी नेता चुनावी मैदान में डटे हैं. अन्‍य नेताओं को भी नाम वापस लेने को कहा गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 16, 2020, 6:38 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बागी प्रत्याशियों को संदेश देने के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) लगातार कार्रवाई कर रही है. इसी क्रम में भाजपा ने अपने तीन पूर्व विधायकों को पार्टी विरोधी गतिविधि के कारण 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है. ये तीनों पूर्व विधायक राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन यानी एनडीए (NDA) प्रत्याशी के खिलाफ अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं. इन तीनों पूर्व विधायक में बड़हरा से आशा देवी, जगदीशपुर से भाई दिनेश और मनेर से श्रीकांत निराला शामिल हैं. बीजेपी के प्रदेश मुख्यालय प्रभारी सुरेश रूंगटा की तरफ से यह आदेश जारी किया गया है. बता दें कि इसके पहले पार्टी 9 नेताओं को 6 साल के लिए निष्कासित कर चुकी है. इनमें रामेश्वर चौरसिया सासाराम से, राजेन्द्र सिंह दिनारा से, उषा विद्यार्थी पालीगंज से, श्वेता सिंह संदेश से, झाझा से रवीन्द्र यादव, जहानाबाद से इंदू कश्यप, अजय प्रताप जमुई से, मृणाल शेखर अमरपुर से तो अनिल कुमार बिक्रम से चुनाव लड़ रहे हैं.

भाजपा से 6 साल के लिए निष्कासित किए जाने के बावजूद ये सभी नेता चुनावी मैदान में डटे हैं. पहले चरण में चुनाव लड़ रहे इन नेताओं के अलावा दूसरे व तीसरे चरण के लिए ऐसे नेताओं को भी नाम वापसी के लिए कहा गया है. अगर वे ऐसा नहीं करते हैं तो उन्हें भी निकाला जा सकता है. गौरतलब है कि इनमें से अधिकतर नेता लोजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. बता दें कि बीजेपी के साथ ही जेडीयू ने भी बागी बनकर चुनाव लड़ रहे अपने नेताओं को पार्टी से निकाला है. ये सभी जदयू से टिकट न मिलने पर दूसरे दल के चुनाव चिह्न पर या निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं या किसी अन्य दल का समर्थन कर रहे हैं.

जिन 15 नेताओं के खिलाफ जनता दल यूनाइटेड ने कार्रवाई करके उन्हें पार्टी से बाहर निकाल दिया है उनके नाम हैं - 1. ददन सिंह यादव, वर्तमान विधायक, डुमरांव 2. रामेश्वर पासवान, पूर्व मंत्री, सिकंदरा 3. भगवान सिंह कुशवाहा, पूर्व मंत्री, जगदीशपुर 4. रणविजय सिंह, पूर्व विधायक 5. सुमित कुमार सिंह, पूर्व विधायक, चकाई 6. कंचन कुमारी गुप्ता, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष महिला प्रकोष्ठ, मुंगेर 7. प्रमोद सिंह चंद्रवंशी, पूर्व सदस्य अति पिछड़ा वर्ग आयोग, ओबरा 8. अरुण कुमार, बेलागंज 9. तजम्मुल खान, रफीगंज 10. अमरीश चौधरी पूर्व जिलाध्यक्ष रोहतास, नोखा 11. शिव शंकर चौधरी, पूर्व जिला अध्यक्ष जमुई, सिकंदरा 12. सिंधु पासवान, सिकंदरा 13. करतार सिंह यादव, डुमरांव 14. डॉ. राकेश रंजन, बरबीघा 15. मुंगेरी पासवान, चेनारी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज