लाइव टीवी

बिहार उपचुनाव : नरेंद्र मोदी के 'नाम' या नीतीश कुमार के 'काम' पर NDA को मिलेगा वोट

Anand Amrit Raj | News18 Bihar
Updated: September 23, 2019, 10:12 AM IST
बिहार उपचुनाव : नरेंद्र मोदी के 'नाम' या नीतीश कुमार के 'काम' पर NDA को मिलेगा वोट
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बिहार के सीएम नीतीश कुमार की फाइल फोटो

बिहार में विधानसभा की पांच सीटों पर उपचुनाव होने हैं. जिन पांच सीटों पर चुनाव होंगे उनमें से चार पर जेडीयू का कब्जा रहा है. उपचुनाव को लेकर सीटों का बंटवारा नहीं हुआ है लेकिन माना जा रहा है कि सभी सीटों पर सीटिंग पार्टी ही अपने उम्मीदवार उतारेगी

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 23, 2019, 10:12 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में विधानसभा (Assembly) की पांच सीटों पर होने वाले उपचुनाव (By Election) को लेकर सरगर्मी तेज़ हो गई है. इसके साथ ही ये सवाल भी उठ रहा है कि क्या नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के लिए ये उपचुनाव उनके साख को मज़बूत करेगा या फिर अगर परिणाम अनुकूल नहीं रहा तो साख पर सवाल उठेंगे. यानी बिहार का उपचुनाव परिणाम नीतीश कुमार के लिए 2020 का रास्ता बहुत हद तक तय कर देगा. इस चुनाव से ये भी साफ़ हो जाएगा कि क्या बिहार में नीतीश मॉडल (Nitish Model) का जादू बरक़रार है या फिर एनडीए (NDA) को बिहार में भी 2020 का चुनाव पीएम नरेंद्र मोदी के चेहरे पर ही लड़ना होगा.

2020 के चुनाव से पहले सेमीफाइनल

ये सवाल इसलिए भी उठ रहे हैं क्योंकि पांच में से चार सीटों पर जेडीयू चुनाव लड़ सकती है कारण ये चारों सीटें जेडीयू की सीटिंग सीट है. ज़ाहिर है कि ज़्यादातर उपचुनाव स्थानीय मुद्दे पर लड़े जाते हैं और इसी वजह से जिसकी सरकार राज्य में रहती है वोट उसी के नाम पर मिलता है. यही वजह है कि जब सरकार नीतीश चला रहे हैं तो जीत का क्रेडिट से लेकर हार की जिम्मेदारी भी नीतीश कुमार पर ही जाएगी. इसी वजह से इसका परिणाम सेमीफ़ाइनल भी माना जा रहा है. जेडीयू दावा कर रही है कि नीतीश का जादू चल जाएगा और ये चुनाव कोई सेमीफ़ाइनल नहीं है.

नीतीश के काम पर मिलेगा वोट

बिहार सरकार में मंत्री और जेडीयू के महासचिव श्याम रज़क कहते हैं कि नीतीश कुमार के विकास के नाम पर बिहार में फिर से हमें वोट मिलेगा. हाल के दिनों में एक साथ होने के बावजूद भी कई मुद्दों पर जेडीयू और बीजेपी के बीच खींचतान होती रही है. चाहे धारा 370 हो या तीन तलाक़ का मामला या फिर NRC, इन मुद्दों के बहाने कई बार बयानबाज़ी का दौर चल चुका है, एसे में ये उपचुनाव दोंनो दलों के लिए इस वजह से भी महत्वपूर्ण हैं कि आपस में दोनों दल के नेता और कार्यकर्ता मिल कर चुनाव लड़ते है या नहीं.

बीजेपी का दावा

बीजेपी के नेता अभी भी इशारों में ये बोलने से नहीं चूक रहे हैं कि वोट तो नरेंद्र मोदी के नाम पर ही मिलता है. पार्टी के प्रवक्ता अशोक सिन्हा कहते हैं कि नीतीश कुमार मुख्यमंत्री हैं. उनके नाम पर भी वोट मिलेगा लेकिन नरेंद्र मोदी के विकास के नाम पर देश भर में लहर है उसका फायदा उपचुनाव में भी मिलेगा. बहरहाल उपचुनाव परिणाम बिहार की राजनीति में सिर्फ़ परिणाम भर नहीं बल्कि नीतीश के 200 पार के दावे को भी मज़बूत और कमज़ोर कर सकता है.
Loading...

ये भी पढ़ें- VIDEO: SDM की अफसरशाही देख भड़के गिरिराज, बीच सड़क पर लगाई क्लास

ये भी पढ़ें- राजनाथ सिंह ने PAK को चेताया, 1965 और 71 की गलती दोहराई तो कर देंगे बर्बाद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 23, 2019, 10:07 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...