Bihar Assembly Election 2020: कांग्रेस-राजद गठबंधन में दरार! सीट शेयरिंग पर फंस गया पेच

आरजेडी के लिए मुश्किलें बढ़ सकती हैं. (फाइल फोटो)
आरजेडी के लिए मुश्किलें बढ़ सकती हैं. (फाइल फोटो)

Bihar Assembly Election 2020 Update: कांग्रेस (Congress) का कहना है कि अगर राजद (RJD) के साथ सम्मानजनक समझौता नहीं होता तो अकेले विधानसभा चुनाव लड़ सकती है पार्टी. 

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 26, 2020, 9:21 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) की सियासी हलचल तेज हो गई है. विपक्षी दलों में सीटों को लेकर रस्साकशी जोरों पर है. सूबे की राजनीतिक गलियारों में राजद और कांग्रेस की तनातनी की खबरें चर्चा में है. वहीं बिहार कांग्रेस (Congress) ने साफ कहा है कि अगर विधानसभा चुनाव में राजद (RJD) के साथ सम्मानजनक समझौता नहीं होता है तब पार्टी बिहार में राजद को छोड़कर विधानसभा चुनाव लड़ सकती है. सूत्रों की मानें तो अगर कांग्रेस और राजद के बीच मसला नहीं सुलझा तो आने वाले दिनों में तेजस्वी यादव के लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं.

बिहार कांग्रेस की स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अविनाश पांडे ने पटना में न्यूज 18 से बात करते हुए कहा कि बिहार कांग्रेस सम्मानजनक समझौता नहीं होने पर लेफ्ट और दूसरे दलों को मिलाकर एक नए गठबंधन के साथ चुनाव में शिरकत करेगी. अविनाश पांडे का यह बयान तब आया है जब तेजस्वी यादव ने कांग्रेस के साथ सीटों के तालमेल पर बातचीत होने के संकेत दिए थे. अविनाश पांडे ने दावा किया कि बिहार कांग्रेस राजद के बगैर भी चुनाव लड़ने में सक्षम है.

जीतन राम मांझी को जेड प्लस सुरक्षा



पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के महागठबंधन से हटने के बाद जेडीयू में शामिल होते ही सीएम नीतीश कुमार मेहरबान हैं. उन्होंने मांझी को बड़ा तोहफा देते हुए जेड प्लस सुरक्षा प्रदान की है. बिहार सरकार के गृह विभाग ने नया आदेश निकालते हुए मांझी को 'Z+' (जेड प्लस) सुरक्षा श्रेणी बढ़ा दिया है. बता दें कि जेड प्लस सुरक्षा श्रेणी में जीतन राम मांझी के साथ सिर्फ आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव ( और पूर्व सीएम राबड़ी देवी ही शामिल हैं.
ये भी पढ़ें: फिल्म सिटी के बाद CM योगी की एक और सौगात, हस्तिनापुर के लिए इंटीग्रेटेड डेवलेपमेंट प्लान तैयार

बता दें कि राज्य सुरक्षा समिति की 21 सितम्बर को हुई बैठक में की गई अनुशंसा के बाद गृह विभाग ने आदेश जारी कर दिया है. नयी सूची के मुताबिक 'Z' श्रेणी की सुरक्षा में सुशील मोदी, ललन सिंह, सैयद शाहनवाज हुसैन, रामविलास पासवान, वशिष्ट नारायण सिंह, अशोक चौधरी और शत्रुघ्न सिन्हा शामिल हैं. वहीं पूर्व लोक सभाध्यक्ष मीरा कुमार और नेता विरोधी दल तेजस्वी प्रसाद यादव वाई प्लस के सुरक्षा घेरे में रहेंगे. वाई प्लस का सुरक्षा घेरा इन्हीं दो नेताओं को दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज