बिहार चुनाव: भाजपा ने लॉन्च किए e-kamal न्यूज लेटर और 'मोदी जी की लहर' चुनावी गीत

बिहार चुनाव के लिए भाजपा ने लॉन्च किया E कमल न्‍यूज लेटर
बिहार चुनाव के लिए भाजपा ने लॉन्च किया E कमल न्‍यूज लेटर

भूपेंद्र यादव (bhupendra yadav) ने महागठबंधन (Mahagatbandhan) को अपवित्र गठबंधन बताते हुए कहा कि न उनके साथ दलित नेता रहे, न पिछड़ा और न ही अतिपिछड़ा नेता रह सके. जीतन राम मांझी, मुकेश सहनी और उपेंद्र कुशवाहा ने उनका साथ छोड़ दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2020, 2:31 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) के लिए तीन चरणों में वोटिंग होगी. पहले फेज के लिए 28 अक्टूबर को मतदान है. वहीं, चुनाव से पहले सभी सियासी दलों ने चुनाव प्रचार में अपनी ताकत झोंक दी है. इसके लिए चुनावी सभाओं से लेकर सोशल मीडिया और डिजिटल कैंपेंन (Digital campaign)जैसे तरीकों आजमाए जा रहे हैं. इसी क्रम में बीजेपी ने जारी किया अपना 'ई कमल' (e-kamal) न्यूज़ लेटर और 'मोदी लहर' प्रचार वीडियो जारी किया है.

भजपा नेता व बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव, दिल्ली के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल की मौजूदगी में ई-कमल वेबसाइट लांच किया गया है. इसके अलावा चुनावी कैंपेन के लिए एक गाना भी लांच किया गया है, जिसका नाम है मोदी जी की लहर है. इस गाने में भोजपुरी अभिनेता और भाजपा नेता दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ ने काम किया है.

इस मौके पर प्रदेश प्रभारी भूपेंद्र यादव ने महागठबंधन की ओर से मुख्‍यमंत्री पद के दावेदार तेजस्‍वी यादव पर तीखा हमला बोला. उन्‍होंने कहा कि लोग रोजगार देने का वादा कर रहे हैं लेकिन रोजगार तो वह देगा जो खुद रोजगार के काबिल हो. बता दें कि महागठबंधन ने शनिवार को कॉमन मेनिफेस्टो जारी कर सरकार बनने पर पहली कैबिनेट मीटिंग में 10 लाख नौकरियां देने का वादा किया है.





भूपेंद्र यादव ने महागठबंधन को अपवित्र गठबंधन बताते हुए कहा कि ना उनके साथ दलित नेता रहे ना पिछड़ा और ना अतिपिछड़ा नेता रह सके. मांझी, मुकेश सहनी और उपेंद्र कुशवाहा ने उनका साथ छोड़ दिया. आरजेडी के कमजोर नेतृत्व के सहारे बिहार में वामपंथ अपना पांव पसारने की कोशिश कर रहा है.
कांग्रेस और आरजेडी वामपंथ को सहारा देकर बिहार में कौन सा वर्ग संघर्ष करना चाहती है.

भूपेन्‍द्र यादव ने कहा कि जब सत्‍ता थी तब इन लोगों ने बिहार के विकास के लिए कुछ नहीं किया. इनके दिल में किसी के लिए दर्द नहीं है.  ये सिर्फ बयानबहादुर हैं और सिर्फ बयान दे सकते हैं. इस मौके पर मनोज तिवारी ने कहा कि इस गीत को देख कर ये अंदाज़ा लगता है भाजपा जो कहती है वो करती है.

वहीं संजय जायसवाल ने कहा कि ये विडियो बताता है की भाजपा है तो मुमकिन है. महागठबंधन के घोषणापत्र पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि ये अपराधियों को टिकट देकर क्या बदलाव लाना चाहते हैं. क्या ये लोग बदलाव करके फिर 2005 के पहले वाला बिहार लाना चाहते हैं. बिहार को फिर से रक्तरंजित करना चाहते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज