Bihar Chunav 2020: बांकीपुर विधानसभा बनी हॉट सीट, इन बड़े चेहरों के बीच यहां होगा घमासान

Bihar Chunav: बांकीपुर सीट से पुष्पम प्रिया चौधरी, सुषामा साहू, नितिन नवीन और लव सिन्हा (बाएं से दाएं) कर रहे हैं दावेदारी. (फाइल फोटो)
Bihar Chunav: बांकीपुर सीट से पुष्पम प्रिया चौधरी, सुषामा साहू, नितिन नवीन और लव सिन्हा (बाएं से दाएं) कर रहे हैं दावेदारी. (फाइल फोटो)

Bihar Election: बांकीपुर विधानसभा सीट पर पूर्व सांसद शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha, ) के पुत्र लव सिन्हा (Luv Sinha), पुष्पम प्रिया चौधरी, बीजेपी की बागी उम्मीदवार सुषमा साहू और भाजपा विधायक नितिन नवीन (Nitin Navin) की दावेदारी से रोचक हुआ चुनाव.

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) में हर पार्टी अलग-अलग सीटों पर अपना दांव खेल रही हैं. इसी क्रम में इस बार कई सीट हॉट सीट भी सामने आ रही है, जिनमें पटना का बांकीपुर सीट (Bankipore Assembly Seat) अहम है. हालांकि इस सीट पर पिछले दो बार से भारतीय जनता पार्टी (BJP) का दबदबा है. लेकिन, इस बार एक साथ कई बड़े चेहरों के नामांकन दाखिल करने से यहां का मुकाबला दिलचस्प होता दिख रहा है. इस बार भाजपा की निगाहें जीत की हैट्रिक लगाने पर है. दरअसल, यहां से बीजेपी के नितिन नवीन (Nitin Naveen) दूसरी बार किस्मत आजमा रहे हैं. इससे पहले नितिन नवीन के पिता नवीन सिन्हा (Naveen Sinha) भी इस सीट से चुनाव लड़ते थे, जिसके कारण यह क्षेत्र बीजेपी का पुराना गढ़ माना जाता रहा है. लेकिन 2020 के चुनाव में नितिन नवीन के अलावा 3 और बड़े नामों ने बांकीपुर के चुनावी घमासान को सुर्खियों में ला दिया है.

शत्रुघ्न सिन्हा के पुत्र ने शुरू की राजनीति
चर्चित अभिनेता और पूर्व सांसद शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) के पुत्र लव सिन्हा (Luv Sinha) पहली बार राजनीति में हाथ आजमा रहे हैं. कांग्रेस ने बांकीपुर से लव सिन्हा को उम्मीदवार बनाया है. लव सिन्हा अभी तक पिता के साथ रहकर पिता के प्रचार की कमान संभालते रहे हैं. बता दें कि बांकीपुर विधानसभा में कायस्थ वोट बैंक का बोलबाला है. यही कारण है कि शत्रुघ्न सिन्हा के पुत्र ने यहां से नामांकन किया है. पटना साहिब से लोकसभा चुनाव हारने के बाद शत्रुघ्न सिन्हा अपनी सारी ताकत अब अपने पुत्र के लिए बांकीपुर में लगाएंगे.

पुष्पम प्रिया चौधरी के कारण दिलचस्प हुआ मुकाबला
प्लूरल्स पार्टी की घोषणा के साथ खुद को बिहार का सीएम कैंडिडेट घोषित कर रातोंरात सुर्खियों में आने वाली पुष्पम प्रिया चौधरी (Pushpam Priya Chaudhary) ने भी बांकीपुर से नामांकन किया है. पुष्पम प्रिया चौधरी जदयू के पूर्व एमएलसी विनोद चौधरी की बेटी हैं. विनोद चौधरी, नीतीश कुमार की पार्टी से एमएलसी रहे हैं. पुष्पम प्रिया चौधरी ने अपनी पार्टी के 100 से ज्यादा उम्मीदवार को इस चुनाव में खड़ा किया है. इसलिए उनकी खुद की जीत ही बड़ा चैलेंज है. पुष्पम प्रिया का कहना है कि बिहार की परंपरागत राजनीति से अलग राजनीति की शुरुआत की है, इसलिए लोग जरूर साथ देंगे.



बीजेपी के बागी ने ताल ठोंक मुकाबला टफ किया
बीजेपी बांकीपुर को अपनी परंपरागत सीट मानती है पर बीजेपी की ही बागी नेत्री सुषमा साहू ने निर्दलीय नामांकन कर मुकाबले को दिलचस्प बना दिया है. सुषणा साहू महिला आयोग की सदस्य रह चुकी हैं और पार्टी में कई सालों से सक्रिय हैं. टिकट नहीं मिलने पर बागी के तौर पर स्वतंत्र रूप से मैदान में हैं. गौरतलब है कि पटना के शहरी क्षेत्र होने के कारण बीजेपी का दबदबा रहा है, पर बड़े चेहरों के सामने आने के बाद यह सीट हॉट सीट बन गई है. देखना होगा कि यहां से एक बार फिर बीजेपी बाजी मारती है या वोटर किसी नए चेहरे को मौका देंगे.

भाजपा ने दो बार यहां से जीती बाजी
गौरतलब है कि पटना लोकसभा क्षेत्र की बांकीपुर विधानसभा सीट गठबंधन में भारतीय जनता पार्टी के खाते में ही आती रही है. यहां अब तक दो ही बार चुनाव हुए हैं और दोनों बार भारतीय जनता पार्टी ने बाजी मारी है. बीजेपी ने दोनों चुनाव में राजद और कांग्रेस को मात दी है. पिछले विधानसभा चुनाव में नितिन नवीन ने महज चालीस प्रतिशत मतदान के बावजूद कांग्रेस के कुमार आशीष को करीब 40 हजार वोटों से मात दी थी.

क्षेत्र का यह है सामाजिक समीकरण
बता दें कि बांकीपुर इलाके में वैश्य और कायस्थ समाज की संख्या बहुत अधिक है. मौजूदा विधायक नितिन नवीन भी कायस्थ जाति से आते हैं. ऐसे में उनका अपनी जाति के वोटरों में दबदबा है. इस चुनावी सफर में भी भाजपा की नजर कायस्थ वोटरों पर है, साथ ही वैश्य समाज को भी साधने की कोशिशें हैं. हालांकि इसी समाज से आने वाली बीजेपी की बागी सुषमा साहू ने मुकाबला रोचक बना दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज