ई-एजेंडा: JDU के नीरज कुमार बोले- नरसंहार का नहीं सद्भाव का बिहार, राजद ने कहा- 60 घोटाले हुए

जदयू के नीरज कुमार व राजद के मृत्युंजय तिवारी.
जदयू के नीरज कुमार व राजद के मृत्युंजय तिवारी.

E-Agenda Bihar: राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी न कहा कि 2005 में हमारी मुख्यमंत्री राबड़ी देवी (Rabri Devi) ने जब सत्ता छोड़ी थी उस समय बिहार का खजाना भरा हुआ था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2020, 5:30 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार ई एजेंडा (E-Agenda Bihar) शुरू हो चुका है और पहले सत्र में राजद और जदयू के नेता बिहार के विकास के मुद्दे पर आमने-सामने हुए. पहले सत्र में पहला मौका जदयू के नेता व बिहार सरकार के मंत्री नीरज कुमार को मिला. उन्होंने अपनी सरकार में किए गए कार्यों पर कहा कि बिहार में कानून का राज है और अब नरसंहार का बिहार नहीं बल्कि अब सद्भाव का बिहार है. राजद की सरकार में यहां दलित, अति पिछड़े, सामान्य समुदाय के लोग  और अल्पसंख्यक समुदाय का कत्लेआम मचा था, लेकिन कोई सुध लेने वाला नहीं था. आज वह नरसंहार क्यों बिहार में बंद हो गया है.

नीरज कुमार ने कहा कि यह सवाल पे सवाल पर बिहार की जनता के सामने कि 1990 से 2005 तक एक भी इंजीनियरिंग कॉलेज बिहार में आज 39 इंजीनियरिंग कॉलेज, पॉलिटेक्निक कॉलेज हैं. 1990 से 2005 के बीच एक भी  मेडिकल कॉलेज नहीं खुले जबकि 2005 से 2020 तक 15 मेडिकल कॉलेज हैं. झारखंड का बंटवारा होने के बाद सबसे बड़ी उपलब्धि हर घर में बिजली पहुंचाने की है. गांवों में सड़कों का जाल बिछा दिया गया.

वहीं, राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी न कहा कि हम  2005 में हमारे मुख्यमंत्री श्रीमती राबड़ी देवी जी ने जब सत्ता छोड़ी थी उस समय  बिहार का खजाना भरा हुआ था. हमने एक शांतिपूर्ण और समृद्ध बिहार दिया था. कहीं कोई नरसंहार कहीं कोई दंगा कहीं था. भाईचारे का माहौल था.  समाज के अंतिम पंक्ति में बैठे हुए व्यक्ति को मुख्यधारा में लाने का काम हुआ था. गरीब, दलित,  पीड़ित, शोषित और वंचित समाज को आवाज दी गई थी,



राजद प्रवक्ता ने कहा कि रघुवंश प्रसाद सिंह और लालू प्रसाद यादव ने केंद्र में  मंत्री रहते हुए बिहार के लिए काफी काम किया था. नीतीश सरकार में 60 घोटाले हुए, शिक्षा व्यवस्था चौपट हुई है. बेरोजगारी में बिहार नंबर वन बना और अपराध में बिहार अव्वल है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज