JDU ऑफिस में CM नीतीश से मिले पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय, बक्सर से लड़ सकते हैं विधानसभा चुनाव!

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय की फाइल तस्वीर
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय की फाइल तस्वीर

गुप्तेश्वर पांडेय ने हाल में सरकार को वीआरएस के लिए आवेदन दिया था, जिसे सरकार ने स्वीकृत कर लिया था. अब उनके विधानसभा चुनाव में बक्सर के किसी सीट से खड़े होने के कयास लगाे जा रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 26, 2020, 4:17 PM IST
  • Share this:
पटना.  बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय (Gupteshwar Pandey) जनता दल यूनाइटेड में शामिल होने की अटकलों पर फिलहाल विराम लगा दिया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) से जेडीयू दफ्तर में मिलने के बाद मीडिया से बात करते हुए पूर्व डीजीपी ने कहा कि मेरी नीतीश जी से मुलाकात हुई है, लेकिन फिलहाल मैंने चुनाव लड़ने का फाइनल नहीं किया है. इसके साथ ही उन्होंने जेडीयू ज्वाइन करने की खबरों पर सफाई देते हुए कहा कि मैं फिलहाल जेडीयू नहीं ज्वाइन कर रहा हूं. हालांकि जेडीयू सूत्रों से खबर है कि सीएम नीतीश ने उन्हें बक्सर से विधानसभा टिकट देने का आश्वासन दे दिया है. लेकिन, इस मामले में जेडीयू की ओर से आधिकारिक पुष्टि का इंतजार है.

बता दें कि मीडिया में शनिवार को ऐसी खबरें आई कि पूर्व डीजीपी को सीएम नीतीश ने पार्टी दफ्तर बुलाया है और वे जेडीयू ज्वाइन कर सकते हैं. इस बीच गुप्तेश्वर पांडेय जेडीयू ऑफिस पहुंचे भी और सीएम नीतीश से मुलाकात भी की. हालांकि इसके बाद उन्होंने सारे कयासों को खारिज कर कहा कि अभी उनका चुनाव लड़ना फाइनल नहीं है. लेकिन अब खबर यही है कि सीएम नीतीश ने उन्हें बक्सर से चुनाव लड़वाने का आश्वासन दे दिया है.





बता दें कि हाल में ही बिहार के डीजीपी पद पर रहते हुए पुलिस सेवा से से गुप्तेश्वर पांडेय ने वीआरएस ले ली थी. इसके बाद से ही कयास लगाए जाने लगे थे कि वे वाल्मीकिनगर से लोकसभा का उपचुनाव लड़ सकते हैं. हालांकि पार्टी वे बीजेपी या जेडीयू में से किस पार्टी में शामिल होंगे इस पर अब भी संशय बरकरार है.
गौरतलब है कि गुप्तेश्वर पांडेय ने हाल में सरकार को वीआरएस के लिए आवेदन दिया था, जिसे सरकार ने स्वीकृत कर लिया था. दूसरी और उनके बिहार विधानसभा चुनाव में भी बक्सर के किसी विधानसभा सीट से खड़े होने की उम्मीद जताई जा रही है, लेकिन इस बीच वाल्मीकिनगर चुनाव में उनकी दावेदारी ने सियासी रुख मोड़ दिया है.

बता दें कि हाल में ही गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा था कि अगर मौका मिला और इस योग्य समझा गया कि मुझे राजनीति में आना चाहिए तो मैं आ सकता हूं. उन्होंने ये भी कहा था कि ये निर्णय वे लोग करेंगे जो हमारी मिट्टी के हैं, बिहार की जनता हैं और उसमें पहला हक तो बक्सर के लोगों का है जहां मैं पला—बढ़ा हूं.  उन्होंने कहा थाकि राजनीति में आने का अब मेरा मन हो गया है अब स्थिति ऐसी बन गई है कि मुझे लगता है कि अब इसमें आ जाना चाहिए.

बहरहाल अब ऐसा माना जा रहा है कि आने वाले कुछ दिनों में तस्वीर साफ हो जाएगी कि गुप्‍तेश्‍वर पांडेय को नीतीश कुमार विधानसभा या फिर लोकसभा का टिकट देते हैं या फिर वे भाजपा में शामिल होकर बक्सर से चुनाव लड़ते हैं. बता दें कि VRS लेने वाले बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय 1987 बैच के IPS अधिकारी थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज