रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफे पर बोली JDU- लालू ट्वीट कर बताएं कि दर्द देने वाला गुनाहगार कौन है?
Patna News in Hindi

रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफे पर बोली JDU- लालू ट्वीट कर बताएं कि दर्द देने वाला गुनाहगार कौन है?
रघुवंश प्रसाद सिंह ने राजद से इस्तीफा दिया (फाइल फोटो)

रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh prasad singh) ने अपने इस्तीफे में लिखा है कि वो राजद (RJD) में 32 साल तक रहें। इस दौरान उन्हें पार्टी में बहुत प्यार मिला लेकिन अब साथ देना संभव नहीं है

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 10, 2020, 11:07 PM IST
  • Share this:
पटना. क्या बिहार चुनाव से पहले रघुवंश प्रसाद सिंह का इस्तीफा आरजेडी के लिए बड़ा सेटबैक साबित होने वाला है? दरअसल ये सवाल इसलिए उठ रहे हैं कि लालू प्रसाद यादव के बेहद करीबी रहे रघुवंश बाबू के जेडीयू में शामिल होने की अटकलें लगायी जा रही है. सवाल उस बात पर भी उठ रहे हैं कि कि क्या हुआ जो AIIMS के ICU से रघुवंश प्र सिंह ने इस्तीफा भेज दिया. इसमें उन्होंने ये आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव (RJD President Lalu Prasad Yadav) को संबोधित करते हुए लिखा है कि जननायक कर्पूरी ठाकुर के निधन के बाद 32 वर्षों तक आपके पीछे-पीछे खड़ा रहा, लेकिन अब नहीं. पार्टी नेता, कार्यकर्ता और आमजनों ने बड़ा स्नेह दिया. मुझे क्षमा करें. अब इसी बात को लेकर जेडीयू लालू यादव से पूछ रही है कि अब बताएं कि आखिर इसका दोषी कौन है?

बता दें कि रघुवंश प्रसाद सिंह के आरजेडी से इस्तीफे के बाद जदयू ने स्वागत किया है. जदयू के दो मंत्री नीरज कुमार और अशोक चौधरी ने कहा कि रघुवंश प्रसाद सिंह जैसे नेता को भी इज्जत नहीं दिए तो किसे देंगे? रघुवंश प्रसाद कितनी मानसिक पीड़ा से गुजर रहे होंगे समझा जा सकता है. नीरज कुमार ने कहा कि लालू यादव को अब ट्वीट कर बताना चाहिए रघुवंश प्रसाद को पीड़ा देने वाला गुनाहगार कौन है?

हालांकि जदयू में आने के सवाल पर दोनों नेताओं ने कहा कि यह रघुवंश प्रसाद को फैसला लेना है. रघुवंश प्रसाद जैसे शालीन व्यक्ति की इज्जत हर जगह है. पार्टी के शीर्ष नेतृत्व तय करेगा. वहीं जेडीयू प्रवक्ता  राजीव रंजन ने कहा कि यह इस्तीफा आरजेडी की ताबूत में आखिरी कील साबित होगी. रघवंश प्रसाद दमघोंटू वातावरण में रह रहे थे. उनके इस्तीफे के हम स्वागत करते हैं.




RJD के फाउंडर में से एक राघुवंश प्रसाद सिंह ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है, लेकिन लगता है कि आरजेडी इसके लिए पहले से तैयार थी. राजद के विधान पार्षद सुनील सिंह ने इस पर कहा कि वो लम्बे वक़्त से बीमार चल रहे हैं. ऐसे इस्तीफे की मूल वजह मुझे पता नहीं. हालांकि जब उनसे यह पूछा गया कि क्या पार्टी उन्हें इस्तीफा वापस लेने के लिए मनायेगी तो उन्होंने चुप्पी साध ली.

हालांकि  रघुवंश सिंह के राजद छोड़ने के ऐलान का कांग्रेस को दुख है. कांग्रेस के बिहार प्रभारी सचिव वीरेंद्र सिंह राठौर ने कहा कि रघुवंश सिंह वरिष्ठ नेता है और अगर उन्होंने इस्तीफा दिया है तो निजी तौर पर इसका असर पड़ना स्वाभाविक है. वैसे  वीरेंद्र  सिंह राठौर ने यह भी कहा कि रघुवंश सिंह का इस्तीफा राजद का अंदरूनी मामला है और ऐसे में कांग्रेस की प्रतिक्रिया सही नहीं होगी.

वहीं रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफे पर बीजेपी की ओर से बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने RJD पर जोरदार हमला बोला हमला है.उन्होंने कहा कि RJD के तरफ से लगातार रघुवंश प्रसाद सिंह जैसे बड़े लोकप्रिय नेता को मानसिक प्रताड़ना दी जा रही थी. वो भी तब जब वो बहुत बीमार हैं. प्रताड़ना से ऊबकर उन्होंने इस्तीफा दिया है.

रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफे पर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव रामनरेश पांडे ने कहा कि किसी के आने जाने से नहीं पड़ता है असर. हालांकि उन्होंने रघुवंश प्रसाद से इस्तीफा वापस लेने का अनुरोध किया, और महागठबंधन का हिस्सा बने रहने की अपील की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज