बिहार चुनाव: कांग्रेस का दावा- बंद कमरे में नहीं जनसंवाद से तैयार हो रहा घोषणा पत्र, सुझाव के लिए नंबर और ई-मेल जारी

बिहार चुनाव के लिए घोषणा पत्र तैयार कर रही कांग्रेस.
बिहार चुनाव के लिए घोषणा पत्र तैयार कर रही कांग्रेस.

बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी (Bihar Pradesh Congress Committee) ने घोषणा पत्र (manifesto) बनाने कि प्रक्रिया में जन अपेक्षाओं के अनुरूप बिहार कि आम जनता से सुझाव आमंत्रित किया है.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 30, 2020, 12:43 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार चुनाव के मद्देनजर तैयार हो रहे कांग्रेस के घोषणा पत्र (congress  manifesto) पर पार्टी ने काम करना शुरू कर दिया है. इसमें बिहार की वर्तमान दिशा और दशा कैसी है तथा इस दुर्दशा से अगर कांग्रेस की सरकार की आती है तो कैसे उबारने का प्रयास करेगी, इसको लेकर मंथन जारी है. पार्टी नेताओं का कहना है कि कांग्रेस पार्टी के पास अपने वादों को पूरा करने का इतिहास है और हमारा घोषणापत्र हमारे लिए बहुत ही पवित्र दस्तावेज है.

अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी घोषणा पत्र के संयोजक राजीव गौड़ा ने कहा कि बिहार कांग्रेस लगातार घोषणा पत्र पर काम कर रही है तथा हमारा घोषणा पत्र लोगों का घोषणा पत्र होगा जिसे बिहार की बात के नाम से जाना जाएगा. न्होंने बताया कि कांग्रेस पार्टी अपने घोषणापत्र में बिहार के लोगों के सुझावों को शामिल करेगी. हमने हमेशा लोगों की सुनी है और यह तरीका उसी के लिए है, वे लोगों पर अपनी मन की बात थोपते हैं और हम लोगों के मन की बात सुनते हैं.

उन्होंने कहा कि सभी व्यक्ति ईमेल, व्हाट्सएप, वेबसाइट और सोशल मीडिया माध्यमों पर अपने सुझाव भेज सकते हैं- इससे समाज के सभी तबके के लोगों के सुझाव आ पाएंगे. आगे जाकर हमारे नेता लोगों के साथ घोषणापत्र के बारे में ऑनलाइन परामर्श करेंगे, जहां लोग अपने प्रश्न और सुझावों को लाइव पोस्ट कर सकते हैं.



कांग्रेस विधानमण्डल दल के नेता श्री सदानन्द सिंह ने बिहार के मूल समस्याओं के बारे विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि यह राज्य गरीबी, भुखमरी, बेरोजगारी से त्रस्त है. किसान मर रहे हैं, युवा भटक रहे हैं, शिक्षक, शिक्षक में भेद किया जा रहा है. ऐसे में इस सरकार को बदलना जरूरी है. हम सब मिलकर घोषणा पत्र में उन चीजों को शामिल कर रहे हैं जिससे इस राज्य में चहुमुखी विकास हो.
सोशल मीडिया सेल के अध्यक्ष रोहण गुप्ता ने कहा कि लोगों को कैसे इस घोषणा पत्र में जोड़ा जाएगा इसपर विस्तार से चर्चा की गई है. वहीं, बिहार मेनिफेस्टो कमिटी के अध्यक्ष आनन्द माधव ने बताया कि अब वह समय चला गया जब लोग मेनिफेस्टो एअरकंडिशन कमरे में बैठ के बनाया करते थे। कांग्रेस पार्टी लगातार समाज के विभिन्न वर्गों से संवाद स्थापित कर परामर्श ले रही है. अब उसका विस्तार करते हुए सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों के विचारों को अपने घोषणा पत्र में स्थान दिया जायेगा अर्थात् यह घोषणा पत्र समाज का दर्पण होगा.

बता दें कि बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी ने घोषणा पत्र बनाने कि प्रक्रिया में जन अपेक्षाओं के अनुरूप बिहार कि आम जनता से सुझाव आमंत्रित किया है, इसके लिए मोबाइल न. 1800 121 000033 और इमेल manifesto@biharkibaat.og के साथ वेबसाइट www.biharkibaat.org जारी किया है.  इसके अलावा बिहार कांग्रेस के आधिकारिक फेसबुक और ट्विटर पर भी सुझाव आमंत्रित किये गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज